Monday , January 24 2022

Kanpur में Zika डंक मचा रहा तांडव, शहर में 98 केस, जानें इसके लक्षण

Kanpur. उत्तर प्रदेश में जीका वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। प्रदेश में जीका के अब तक कुल 98 मामले सामने आए हैं। कानपुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नेपाल सिंह ने बताया कि निरोधात्मक कार्रवाई चल रही है, हमारी टीमें घर-घर सर्वे कर रही हैं और जो बाहर से आए हैं उनकी सैंपलिंग की जा रही है।

बता दें कि जीका के रोकथाम के लिए स्वस्थ्य विभाग की टीमें घर-घर सर्वे कर रही है। वहीं, लक्षण मिलने पर लोगों की सैंपलिंग की जा रही है। सभी गर्भवतियों की सैंपलिंग के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही रेडियोलॉजी सेंटरों को भी सतर्क किया गया है। गर्भस्थ शिशु के विकास में कोई दिक्कत होती है तो तुरंत जानकारी दी जाए।

कैसे फैलता है जीका संक्रमण-

जीका वायरस मच्छर के कारण फैलता है। ये वायरस एडीज एजिप्टी प्रजाति के मच्छर के काटने से होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, एडीज मच्छर ज्‍यादातरद दिन में काटते हैं। ये वही मच्छर है जो डेंगू, चिकनगुनिया फैलाता है। अधिकतर लोगों के बीच जीका वायरस का संक्रमण कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन ये गर्भवती महिलाओं के लिए और खासतौर से भ्रूण के लिए बेहद खतरनाक हो सकता है।

जीका वायरस के लक्षण-

जीका वायरस से संक्रमित कुछ लोगों में कोई लक्षण नहीं होते हैं। आमतौर पर लक्षण किसी व्यक्ति को संक्रमित मच्छर द्वारा काटे जाने के दो से 14 दिनों के बीच होते हैं। ऐसे इसके लक्षण में बुखार, मांसपेशियों या जोड़ों में दर्द, आंखों में लाली, सिरदर्द, थकान, पेट में दर्द आदि हो सकता है। जीका वायरस के संक्रमण से मस्तिषक या तंत्रिका तंत्र की जटिलताएं हो सकती हैं, जैसे गइलेन बैरे सिंड्रोम।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven + eighteen =