Saturday , June 25 2022

World Malaria Day 2022: क्या है मलेरिया बुखार, जानें इससे बचने के उपाय

नई दिल्ली: हर साल 25 अप्रैल को दुनियाभर में विश्व मलेरिया दिवस मनाया जाता है, ताकि लोगों को मलेरिया बुखार के बारे में जागरुक किया जा सके। विश्व स्वास्थ्य संगठन की विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2021 के अनुसार, भारत में अभी भी दुनिया में मलेरिया के सबसे अधिक मामले देखे जाते हैं, हालांकि पिछले कुछ वर्षों में देश में मामलों में गिरावट देखी गई है।

आप जानते होंगे कि मलेरिया कुछ मच्छरों द्वारा किया जाने वाला एक परजीवी संक्रमण है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मलेरिया एक नहीं बल्कि 5 तरह का होता है। तो आइए जानें अलग-अलग तरह के मलेरिया और इससे बचने के तरीके।

What is Malaria- क्या है मलेरिया?
मलेरिया बुखार एक प्रकार का संक्रामक रोग है। यह मादा एनोफिलीज मच्छर के काटने से फैलता है, जिसमें प्लास्मोडियम वाइवैक्स नामक प्रोटोज़ोअन होता है।

मलेरिया बीमारी गर्मियों और बारिश के मौसम में ज़्यादा आम हो जाती है। मलेरिया के मच्छर ठहरे हुए और गंदे पानी में पैदा होते हैं, जबकि डेंगू का मच्छर ताज़े पानी में पैदा होता है। मलेरिया किसी को भी हो सकता है, और एक से ज़्यादा बार हो सकता है। ऐसी जगह जहां पानी का जमाव है, वहां मलेरिया होने की संभावना बढ़ जाती है
मलेरिया से कैसे संक्रमित होते हैं?
मादा एनोफिलीज मच्छर के काटते ही प्लाजमोडियम नामक परजीवी व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाता है और रोगी के शरीर में पहुंचते ही फैलना शुरू कर देता है। यह परजीवी लीवर और रक्त कोशिकाओं को संक्रमित कर व्यक्ति को बीमार कर देता है। सही समय पर इलाज न मिलने पर यह बीमारी जानलेवा भी हो सकती है। मलेरिया को आम बुखार समझने की ग़लती नहीं करनी चाहिए। अगर सही समय पर इसका इलाज नहीं किया गया तो यह जानलेवा साबित हो सकता है।
Symptoms of Malaria- मलेरिया के लक्षण
मलेरिया में मरीज़ को तेज़ बुख़ार और कंपकपी होती है। इस प्रकार के बुखार में एक पैटर्न देखने को मिलता है। बुखार आमतौर पर 24 से 48 घंटों के भीतर दिखना शुरू हो जाता है। इसका कारण यह है कि मलेरिया पैदा करने वाले परजीवी समय-समय पर रोगी के जिगर से रक्त में निकल जाते हैं, रक्त की कोशिकाओं को संक्रमित करते हैं, वहां से एक प्रकार का विष बनाते हैं। जिसकी वजह से कंपकपी के साथ बुखार आता है।

ऐसे होते हैं लक्षण:

– तेज़ बुखार

– ठंड लगना

– सिर दर्द

– शरीर दर्द

– पसीना आना

– मांसपेशियों में दर्द

– उल्टी

– बेचैनी

– कमज़ोरी

मलेरिया से कैसे बचें

मलेरिया से बचाव का सबसे अच्छा तरीका मच्छरों के काटने से खुद को बचाना है।

अपने परिवार और खुद को मच्छरों के काटने से बचाएं। संक्रमित मरीज को काटने वाला मच्छर अगर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काट ले तो मलेरिया होने की संभावना बढ़ जाती है

मच्छरों के काटने से बचने के लिए मॉसकीटो नेट्स और रिपेलेंट का इस्तेमाल करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

20 + twenty =