Wednesday , June 22 2022

Weight Loss Tips :कुछ आयुर्वेदिक उपाय जो वज़न घटाने में कर सकते हैं मदद

नई दिल्ली: वज़न घटाना एक धीमी और स्थिर प्रक्रिया है। रातों रात वज़न घटाना असंभव है; इसलिए जब भी आप किसी ऐसे व्यक्ति से मिलें जो कम समय में वज़न कम करने में आपकी मदद करने का दावा कर रहा हो, तो उसके झांसे में न आएं। सही वज़न तक पहुंचने के लिए आपको धैर्य रखना होगा। एक छोटा कदम भी आपकी लंबे समय तक मदद करेगा।

आयुर्वेद वज़न घटाने में खास भूमिका निभाता है। आयुर्वेद वजन प्रबंधन के लिए विभिन्न जड़ी-बूटियों और मसालों का उल्लेख करता है। तो आइए जानें ऐसी 5 आयुर्वेदिक औषधियां के बारे में जो झट से वज़न कम करने में आपकी मदद कर सकती हैं
हल्दी
बिना चुटकी भर हल्दी के कोई भी भारतीय डिश अधूरी रहती है। यह पीला मसाला औषधीय गुणों से भरपूर होता है। यह वज़न बनाए रखने में भी कारगर साबित होता है। हल्दी शरीर के मेटाबॉलिज़्म को बढ़ाती है, जो वज़न कम करने का काम करता है। यह एंटीऑक्सिडेंट का भी एक अच्छा स्रोत है, जो इसे वज़न घटाने के लिए एक आदर्श चीज़ बनाती है। आप हल्दी में काली मिर्च मिलाकर गर्म पानी के साथ ले सकते हैं। आप इसे एक गिलास दूध में भी मिलाकर पी सकते हैं।
जीरा
वज़न घटाने के लिए जीरे के पानी के उपयोग के बारे में सभी जानते हैं। साथ ही जीरा भारतीय पकवानों में भी खूब इस्तेमाल होता है। जीरे में चयापचय उत्प्रेरण तत्व होते हैं जो पाचन में भी सहायता करते हैं। जीरा पेट में सूजन और गैस बनने से रोकने के लिए जाना जाता है। रात में जीरे को पानी में भिगोकर रख दें और फिर सुबह उसे पी लेने से वज़न कंट्रोल या वज़न कम करने में मदद मिलती है।

काली मिर्च
भारतीय किचन में काली मिर्च का उपयोग खूब होता है। काली मिर्च भारत के मालाबार तट से आती है और देश के सबसे पुराने मसालों में से एक है। अपने अनोखे स्वाद के कारण जो मिर्च के समान होता है, काली मिर्च को हमेशा वसा जलने वाले मसाले के रूप में देखा जाता है। एक शोध अध्ययन के अनुसार काली मिर्च में पाया जाने वाला पिपेरिन तत्व नई वसा कोशिकाओं के निर्माण के लिए ज़िम्मेदार जीन की गतिविधि में हस्तक्षेप करता है। अध्ययन में कहा गया है कि यह एक चेन रिएक्शन सेट करता है, जो शरीर में वसा के निर्माण पर रोक लगाता है।
दालचीनी
वज़न को मैनेज करने में दालचीनी बड़ी भूमिका निभाती है। दालचीनी ब्लड शुगर लेवल को बैलेंस करती है और पेट को भरा हुआ रखती है। यह क्रेविंग और भूख को कम करती है। एक तरह से आपको अनावश्यक स्नैक्स खाने से रोकती है। दालचीनी के सेवन के कई तरीके हैं। आप इसे चाय में मिला सकते हैं, या फिर पैनकेक्स जैसी डिश में डाल सकते हैं। आप दालचीनी का छोड़ा सा तुकड़ा चबा भी सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fourteen − 13 =