Tuesday , June 28 2022

मानसून से तबाही के मंजर, कई जिलों में मंडरा रहा बाढ़ का खतरा

लखनऊ। कोरोना के बाद अब मानसून से तबाही के मंजर सामने आने लगे हैं। देश के कई राज्यों में भारी बारिश के बाद बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 94 नरेंद्र नगर के पास भूस्खलन हुआ जिसके चलते कई रास्ते बाधित हुए हैं। वहीं, दूसरी ओर घनसाली टैक्सी स्टैंड के पास बनी पार्किंग के पास की पहाड़ी दरक कर सड़क पर आ गिरी, जिसकी वजह से दहशत मच गई।

दरअसल, भारी बारिश के कारण पहाड़ी इलाकों में लगातार भूस्खलन के चलते सड़क से गुजर रहे राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लगातार हो रही बारिश ने केदारनाथ और बदरीनाथ हाईवे को जगह-जगह बंद कर दिया है। बारिश के चलते पहाड़ से लगातार मलबा आ रहा है।

उत्तराखंड में हो रही लगातार बारिश से रुद्रप्रयाग में अलकनंदा नदी खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गई है। यही वजह है कि प्रशासन ने नदी किनारे रहने वालों के घर खाली करवा लिए हैं। वहीं चंपावत में भी जोरदार बारिश के बाद जगह-जगह भूस्खलन हो रहे हैं। टनकपुर पिथौरागढ़ हाईवे पर भूस्खलन के बाद रास्ता बाधित है।

वहीं उत्तराखंड़ में हो रही बारिश का सीधा असर यूपी के कई जिलों में देखने को मिल रहा है। यहां रामपुर में नदी में उफान लोगों को डरा रहा है, हालांकि प्रशासन ने कहा है कि किसी भी संकट का सामना करने के लिए प्रशासन तैयार है।

जबकि, नेपाल में हो रही बारिश का असर बिहार के कई जिलों में देखने को मिल रहा है। कई गांव पानी में डूब गए हैं। लोग तेजी से पलायन कर रहे हैं और सुरक्षित जगह पर पहुंच रहे हैं। रक्सौल में नेपाल से आए पानी ने तबाही मचाई है। यहां कंचनपुर में 4 लेन के निर्माणाधीन पुल को बारिश ने छतिग्रस्त कर दिया। लगातार नदियों का बढ़ता जलस्तर यहां लोगों को डरा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

10 + 5 =