Wednesday , June 29 2022

कानपुर : सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने की करोड़ों की ठगी, ATM कार्ड हुए बरामद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में एक फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा हुआ है। इसमें 12,000 अमेरिका नागरिकों का डेटा हैक करके कम से कम 9 लाख डॉलर (67 करोड़ रुपये) ठगने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस गिरोह का मुख्य सरगना पुणे विश्वविद्यालय से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। जो मोबाइल हैकिंग का विशेषज्ञ है। पुलिस ने गिरोह के कॉल सेंटर पर छापा मारा और कई फोन, कंप्यूटर हार्ड डिस्क और एटीएम कार्ड बरामद किए। पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने कहा कि धोखेबाज कॉल सेंटर के जरिए लोगों के मोबाइल फोन हैक कर अमेरिका में लोगों को डॉलर में ठग रहे थे। बता दें कि मास्टरमाइंड मुनेंद्र शर्मा पुणे यूनिवर्सिटी का सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। जो नोएडा का रहने वाला है।

अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने उनके पास से 27 हार्ड डिस्क, विभिन्न बैंकों के छह एटीएम कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पांच एंड्रॉइड फोन, अमेरिकन एक्सप्रेस बैंक डेबिट कार्ड, दो पैन कार्ड, होटल ताज सदस्यता कार्ड बरामद किया है। अधिकारी के अनुसार, जैसे ही अमेरिकी नागरिक किसी भी साइट पर ब्लिंकिंग विज्ञापनों पर ते थे, जैसे मोटापा कम करना, पेट कम करना, घुटनों को मजबूत करना, लंबाई बढ़ाना या बालों का गिरना बंद करना, तो उनके मोबाइल पर एक मैलवेयर अपलोड हो जाता था।

पुलिस के मुताबिक वह यूजर के फोन पर ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के फर्जी मैसेज भेजते थे। इस मैसेज में रकम रिफंड की जाने वाली रकम से कई गुना ज्यादा दिखाई गई, जबकि हकीकत में कोई रकम ट्रांसफर नहीं हुई। उसी समय, उपयोगकर्ता को लगे कि उसे और अधिक पैसा वापस कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 + fourteen =