Thursday , June 23 2022

कानपुर में धर्मांतरण जुड़ा मामला आया सामने, माता पिता ने किया खुलासा

कानपुर। यूपी के नोएडा में सोमवार को धर्मांतरण करने वाले गिरोह के दो सदस्यों मुफ्ती काजी जहांगीर आलम कासमी और मोहम्मद उमर गौतम को यूपी पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है। वहीं, कानपुर से भी इसी से जुड़ा एक मामला सामने आ रहा है। कानपुर में काकादेव निवासी मूक-बधिर छात्र आदित्य गुप्ता के धर्म परिवर्तन करने की एक-एक बात परिजनों ने कल्याणपुर पुलिस को बताई थी। कार्रवाई के बजाय पुलिस अपहरण का केस दर्ज कर हाथ पर हाथ धरकर बैठ गई।

आदित्य की मां लक्ष्मी के मुताबिक उनका बेटा 10 मार्च को घर से लापता हुआ था। तब उन्हें बेटे के धर्मांतरण की जानकारी थी। 12 अप्रैल को उन्होंने कल्याणपुर थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। परिजनों ने बताया कि उन्होंने पुलिस को आदित्य के धर्म परिवर्तन के बारे में जानकारी दी थी। यह भी बताया कि वह केरल निवासी साबिर और शाहद के संपर्क में हैं। उनका मोबाइल नंबर भी दिया। पुलिस ने सीडीआर तो निकलवाई पर कार्रवाई नहीं की। तब कल्याणपुर में इंस्पेक्टर जनार्दन प्रताप सिंह थे। उनके निलंबन के बाद आए वीर सिंह ने भी कोई कार्रवाई नहीं की। पुलिस उसी समय सक्रिय हो जाती तो धर्मांतरण के खेल का खुलासा पहले ही हो जाता।

वहीं, घर लौटने पर आदित्य को पता चला कि परिजनों ने पुलिस को जानकारी देकर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसे लेकर उसने घरवालों पर नाराजगी जताई। पूछा कि ऐसा क्यों किया, शिकायत वापस ले लो। यह भी कहा कि अब पुलिस से कोई बात नहीं की जाएगी। आरोपियों ने आदित्य का जबरदस्त तरीके से माइंड वॉश कर दिया है। अभी भी वह सामान्य नहीं है। आदित्य ने परिजनों से कहा कि अगले साल ईद पर वापस उन्हीं लोगों के पास चला जाएगा। जाते समय उसे कोई न रोके। इससे आशंका है कि उसको आतंकी संगठन से जुड़े लोग ट्रेंड कर रहे थे।

परिजनों ने बताया कि नौ मार्च को आदित्य ने कहा था कि जरीब चौकी के पास एक गल्ले की दुकान पर उसकी नौकरी लग गई है। परिजनों ने उससे कहा था कि वे खुद पहले मालिक से मिलेंगे, तब नौकरी शुरू करना। 10 मार्च को आदित्य यह बोलकर निकला कि पहले दिन काम कर लूं, फिर ले चलूंगा। तभी वह लापता हो गया था। वह सीधे केरल पहुंचा था। किराये पर रहने से लेकर पूरी व्यवस्था आरोपियों ने ही कराई थी। परिजनों ने बताया कि जब आदित्य को बताया गया कि उसकी मां बीमार है। हालात नाजुक है। तब आदित्य का दिल पसीजा। उसने मैसेज में आई लव यू मम्मी लिखा। इसी वजह से वह घर लौटा। फिलहाल वो सुरक्षा एजेंसियों की निगरानी में रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

16 − one =