Thursday , June 23 2022

UP में एक और पत्रकार की हत्या, ग्राम प्रधान के घर के बाहर मारी गोली

बलिया : यूपी के बलिया जिले में प्रधान के घर के नजदीक हुई पत्रकार की हत्या से उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था को लेकर फिर से सवाल उठने शुरू हो गए हैं. पत्रकारों की बेखौफ हत्या इस बात का साबुत बनती जा रही है कि अभिव्यक्ति की आजादी तो दूर पुलिस में जायज शिकायत करना भी किसी की जान लेने के लिए काफी है.

घर से वापसी के वक्त बमाशों ने किया हमला

यूपी के बलिया जिले में एक टीवी न्यूज़ चैनल के पत्रकार रतन सिंह की सोमवार रात गोली मार कर हत्या कर दी गई. बेख़ौफ़ बदमाशों ने घटना को उस वक्त अंजाम दिया जब सोमवार की शाम फेफना थाना क्षेत्र स्थित रतन सिंह अपने पुराने मकान पर गए हुए थे, घर से पैदल वापसी के वक्त कुछ संदिग्ध बदमाशों ने उनपर धावा बोल दिया जिसके बाद खुद के बाचाव के लिए रतन ग्राम प्रधान के घर की ओर भागे लेकिन फिर भी बदमाशों ने उनका पीछा नहीं छोड़ा और एक-एक कर तीन गोलिया मार कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया.

ऐसा बताया जा रहा था कि पिछले साल दिसंबर में पुआल रखने को लेकर विवाद शुरू हुआ था. जिसके बाद हिस्सेदार अरविंद सिंह और दिनेश सिंह से मारपीट होने की बाते भी सामने आईं थी. उस समय पुलिस के पार केस दर्ज कराया गया था जिसके बाद मामला रफा-दफा हो गया था.

वहीँ रतन सिंह की हत्या के बाद कई पत्रकार इंसाफ की मांग करते हुए परिवारवालों के साथ एनएच 31 पर धरने पर बैठे हैं. उनकी मांग है कि फेफना के थानाअध्यक्ष को निलंबित किया जाए. परिवारवालों की मांग पर फेफना थानाध्यक्ष शशिमौली पांडेय को एसपी देवेंद्र नाथ ने निलंबित कर दिया है. साथ ही एस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जिनसे पूंछतांछ की जा रही है.

10 लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए आरोपियों के खिलाफ हर संभव कार्रवाई करने के निर्देश दिए है कि. इसके अलावा सीएम ने रतन के परिवार वालों को 10 लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है.

अपराध की घटनाओं पर पर्दा डालती है यूपी सरकार

वहीँ दूसरी तरफ बढ़ते अपराध को लेकर प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बार फिर से योगी आदित्‍यनाथ सरकार पर हमला बोला है. उन्‍होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री सरकार की स्‍पीड बताते हैं और अपराध का मीटर उससे दोगुनी स्‍पीड से भागने लगता है. सरकार द्वारा जुर्म को छुपाने का आरोप लगाते हुए उन्‍होंने कहा कि यूपी सरकार बार-बार अपराध की घटनाओं पर पर्दा डालती है, मगर अपराध चिंघाड़ते हुए प्रदेश की सड़कों पर तांडव कर रहा है.’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

20 − twenty =