Saturday , January 22 2022

भगवान बिरसा मुंडा की 146वीं जयंती पर मनाया गया जनजातीय गौरव दिवस, CM योगी हुए शामिल

Lucknow. भगवान बिरसा मुंडा की 146वीं जयंती पर ‘जनजातीय गौरव दिवस’ मनाया गया। जिसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी हिस्सा लिया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा, मात्र 25 वर्ष की आयु में भगवान बिरसा मुंडा ने भारत की स्वाधीनता व जनजातीय समाज के उत्थान के लिए अपना बलिदान दे दिया था। आदिवासी समाज की देन है कि हमारे पास खनन संपदा, वन संपदा और जैव विविधता मौजूद है। आदिवासी समाज ने प्रकृति पूजा के माध्यम से जल संसाधनों की रक्षा की है।

सीएम योगी ने कहा, भगवान बिरसा मुंडा जी की पावन जयंती हम सभी को भारत की इस व्यवस्था के साथ जुड़ने, देश की आन-बान-शान की रक्षा करने व गरीब कल्याणकारी योजनाओं को समाज के प्रत्येक तबके तक पहुंचाने के लिए प्रेरित करती है। प्रदेश में बहुत से ऐसे गांव थे जिन्हें राजस्व ग्राम की मान्यता नहीं थी।
हमने ऐसी 54 बस्तियों को राजस्व गांव की मान्यता दी। एक अभियान के तहत हर जनजातीय परिवार के पास राशन कार्ड, आयुष्मान भारत कार्ड की व्यवस्था की गई।

सूबे के मुख्यमंत्री ने कहा, जनजातीय समाज भारत के संसाधनों का रक्षक है। वनों की रक्षा हो या देश के अनमोल रत्नों की, यह समाज उसके लिए निरंतर कार्य करता रहा है। इस समाज की देन है कि हम खनिज व वन सम्पदा के साथ जैव विविधता की गारंटी दुनिया को दे सकते हैं।

सीएम योगी ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भगवान बिरसा मुंडा जी की पावन जयंती को ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के रूप में मनाने का निर्णय लिया। आज देश की एक बड़ी आबादी जो जनजातीय समाज से है वे सभी लोग इस बात पर गौरव की अनुभूति कर रहे हैं। आज पूरा देश भगवान बिरसा मुंडा की 146वीं पावन जयंती को हर्षोल्लास के साथ मना रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × four =