Wednesday , June 22 2022

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला: CBI करेगी सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच

नई दिल्ली । बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है। जस्टिस हृषिकेश राय की एकल जज पीठ ने फैसला सुनाया है। जिसमें सीबीआई को केस सौंपने की बात कही गई है। कोर्ट ने कहा कि मुम्बई पुलिस जांच में सहयोग करेगी और जांच से जुड़े दस्तावेज देगी। बिहार सरकार की सिफारिश को कोर्ट ने वैध माना। इस केस में आगे कोई दूसरी  एफआईआर भी होगी तो सीबीआई जांच करेगी।

रिया ने सुशांत से पैसे लिए और उन्हें सुसाइड के लिए उकसाया

सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रहीं रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी कि बिहार में उनके खिलाफ दर्ज केस को मुंबई में ट्रांसफर किया जाए। सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह ने पटना के राजीव नगर थाने में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। सुशांत के पिता ने आरोप लगाया है कि रिया ने सुशांत से पैसे लिए और उन्हें सुसाइड के लिए उकसाया है। आईपीसी की धारा 341, 342, 380, 406, 420, 306 के तहत ये केस दर्ज हुआ है।

इंद्रजीत चक्रवर्ती से पूछताछ जारी

वहीं प्रवर्तन निदेशालय ने भी 31 जुलाई को सुशांत सिंह राजपूत के पिता के.के. सिंह की शिकायत पर बिहार पुलिस की एफआईआर के आधार पर मामला दर्ज किया है। सुशांत की मौत से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के बारे में प्रवर्तन निदेशालय लगातार रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शोविक और पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती से पूछताछ कर रही है। इसके अलावा ईडी सुशांत के हाउस वर्कर्स और रिया के सीए से भी कई बार पूछताछ कर चुकी है।

सुप्रीम कोर्ट में फैसला सुरक्षित रखा 

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत केस में सीबीआई जांच की अपील दुनियाभर में उठ रही थी। फैंस से लेकर फिल्मी-टीवी सितारे भी इस केस की सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे। सुशांत का परिवार इस केस की निष्पक्षता के लिए सीबीआई जांच चाहते हैं। मंगलवार को रिया चक्रवर्ती की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में फैसला सुरक्षित रख लिया था।

सुशांत सिंह के परिवार का पक्ष रखा

इस दिन सुनवाई के दौरान एडवोकेट मनिंदर सिंह ने बिहार सरकार की तरफ से, एडवोकेट एएम सिंघवी महाराष्ट्र सरकार, एडवोकेट श्याम दिवान रिया की तरफ से और एडवोकेट विकास सिंह ने सुशांत सिंह के परिवार का पक्ष रखा था। सुप्रीम कोर्ट में सभी पक्षों ने अपनी तरफ से लिखित जवाब सौंपे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five + nineteen =