CM योगी ने मुलायम को कहा अब्बाजान, अखिलेश हुए खफा, और फिर…

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में आगामी विधान सभा चुनाव को देखते हुए विपक्षी दलों का आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के पिता और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को अब्बाजान कहने का मामला तूल पकड़ रहा है। वहीं एक तरह जहां अखिलेश मुख्यमंत्री द्वारा मुलायम को अब्बाजान खहने से खफा है तो वहीं वहीं दूसरी तरफ प्रदेश सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने पटलवार किया है। उन्होंने कहा है कि अखिलेश यादव को अब्बाजान शब्द से क्या दिक्कत है यह समझ से परे हैं। अब्बाजान उर्दू का एक मीठा शब्द है। जैसे पिता को डैडी कहा जाता है वैसे ही अब्बा है। अखिलेश मुलायम सिंह को पिता तो कहते नहीं हैं। असल में उन्हें शब्द की समझ नहीं है।

सपाइयों को रास नहीं आ रहा

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा, बिना सोचे-समझे कुछ भी बोलने वालों के मुंह से भाषा में संतुलन की बात हजम नहीं होती है। उन्होंने कहा है कि ड्राइंग रूम में बैठकर ट्वीट करने वालों को अब भाषा में भी दोष नजर आने लगा है। भाजपा की बढ़ती ताकत और जनाधार सपाइयों को रास नहीं आ रहा है। वो सहमे हुए हैं। इसलिये आदर सूचक और सम्मानजनक शब्दों की पहचान करना भी भूल गये हैं।

दरअसल में शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच जमकर शब्दबाण चले थे। अखिलेश यादव ने खुद को बीजेपी के नेताओं से बड़ा हिंदू बताया तो सीएम योगी ने राममंदिर के बहाने उनपर निशाना साधा था। इसी के साथ ही सीएम योगी ने तंज कसते हुए कहा कि उनके अब्बाजान (मुलायम सिंह यादव) कहते थे कि वहां (अयोध्या में) परिंदे को भी पर नहीं मारने देंगे, लेकिन अब वहां राम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है। अगले तीन साल में वहां एक बड़ा भव्य मंदिर होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

15 + six =