Thursday , June 23 2022

राजस्थान में विधानसभा सत्र की शुरुआत, सदन में एकजुट हुए गहलोत-पायलट

नई दिल्ली : एक महीने से चल रही बगावत के बाद सचिन पायलट की जयपुर वापसी हो चुकी है. बीते दिन सचिन पायलट, अशोक गहलोत की मुलाकात हुई के दौरान दोनों ने एक-दूसरे से हाथ मिलाया, फोटो खिंचवाई. वहीँ कांग्रेस ने बैठक में भाजपा को हराने का संदेश दिया और बीजेपी पर ही सरकार गिराने का आरोप भी लगा दिया.

PM कोरोना की लड़ाई में हमारे राज्य की तारीफ कर रहें हैं

इसी बीच आज राजस्थान में कैबिनेट की मांग पर विधानसभा का सत्र बुलाया गया है. भारतीय जनता पार्टी-कांग्रेस के बीच वार-पलटवार का सिलसिला चल रहा है. विधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना की लड़ाई में हमारे राज्य की तारीफ कर रहे हैं. तो बीजेपी के नेता सदन में उसकी आलोचना कर रहे हैं. बीजेपी ने राज्य की सरकार गिराने की कोशिश की.

अशोक गहलोत ने कहा कि जिन मंत्री का नाम था वो ऑडियो टेप में आ गया, लेकिन आप सफल नहीं हो पाए. आपके हाईकमान का आदेश था, इसलिए सरकार गिराने की कोशिश की. ये सच पूरा देश जानता है, आपने अरुणाचल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश में क्या किया पूरा देश जानता है. इस देश में सिर्फ दो लोग ही राज कर रहे हैं, दिल्ली में किसी मंत्री को कोई पूछ नहीं रहा है.

अमित शाह के सपने में भी सरकारें आ रही हैं

अशोक गहलोत ने कहा कि कई नेता छुपकर दिल्ली गए और सीएम बनाने की रेस शुरू कर दी. सीएम ने कहा कि अमित शाह के सपने में भी सरकारें आ रही हैं, लेकिन मैं सरकार गिरने नहीं दूंगा. आपके लोगों ने आजादी की लड़ाई में कुछ नहीं किया, इंदिरा गांधी भी चुनाव हार गई थीं. जिस दिन जनता का मूड हुआ, दिल्ली में क्या होगा पता भी नहीं चलेगा. उन्होंने कहा मेरे और भैरो सिंह शेखावत जी के संबंध बढ़िया थे, अच्छा होता कि अभी के नेताओं के साथ भी ऐसा होता. एक बार आपकी सरकार आई, हमारी भी आई. जब कोरोना का कहर था, तब बीजेपी मध्य प्रदेश-राजस्थान की सरकार गिराने में लगी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

17 − 14 =