Saturday , June 25 2022

Post Office Saving Schemes: जाने- 7% से ज्यादा ब्याज दर वाली बचत योजनाएं

नई दिल्ली:-  हर व्यक्ति को अपनी क्षमता के अनुसार सेविंग जरूर करनी चाहिए। सेविंग करने का तरीका व्यक्ति अपने हिसाब से चुन सकता है। बैंक में कई तरह की योजनाएं होती हैं, जिनके जरिए सेविंग की जा सकती है। इसके अलावा शेयर मार्केट में निवेश किया जा सकता है। हालांकि, शेयर मार्केट में निवेश करना बाजार के जोखिमों के अधीन होता है, इसमें रिस्क ज्यादा होता है लेकिन शेयर बाजार में भी कई तरह के प्रोडक्ट होते हैं, जिनमें बाकियों के मुकाबले जोखिम कम होता है। इनके अलावा, पोस्ट ऑफिस में भी कई तरह की सेविंग योजनाएं होती हैं, जिनके जरिए कोई भी व्यक्ति सेविंग कर सकता है। ऐसे में आज हम आपको पोस्ट ऑफिस की कुछ ऐसी योजनाओं के बारे में बताएंगे, जिनमें निवेश करने पर आपको 7% से ज्यादा का ब्याज मिलता है।

7% से ज्यादा ब्याज दर वाली बचत योजनाएं

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना तिमाही कंपाउंडिंग फ्रीक्वेंसी के साथ 7.4 प्रतिशत की ब्याज दर देती है।
सार्वजनिक भविष्य निधि योजना सालाना कंपाउंडिंग फ्रीक्वेंसी के साथ 7.1 प्रतिशत ब्याज दर देती है।
सुकन्या समृद्धि योजना में सालाना कंपाउंडिंग फ्रीक्वेंसी के साथ 7.6 प्रतिशत की ब्याज दर मिलती है।
वरिष्ठ नागरिक बचत योजना खाता कौन खोल सकता है?
60 वर्ष से अधिक आयु का व्यक्ति।
55 वर्ष से अधिक और 60 वर्ष से कम आयु के सेवानिवृत्त सिविल कर्मचारी, इस शर्त के अधीन कि सेवानिवृत्ति के लाभ की प्राप्ति के 1 महीने के भीतर निवेश किया जाए कर सकते है।
50 वर्ष से अधिक और 60 वर्ष से कम आयु के सेवानिवृत्त रक्षा कर्मचारी, इस शर्त के अधीन कि सेवानिवृत्ति के लाभ की प्राप्ति के 1 महीने के भीतर निवेश किया जाए।
खाता व्यक्तिगत क्षमता के रूप में या केवल पति या पत्नी के साथ खोला जा सकता है।
एक संयुक्त खाते में जमा की पूरी राशि केवल पहले खाताधारक के लिए ही देय होगी।
सार्वजनिक भविष्य निधि योजना खाता कौन खोल सकता है?

एक एकल बालिग, जो भारतीय नागरिक हों।
नाबालिग/दिमागी रूप से बीमार व्यक्ति की ओर से उसके अभिभावक।
सुकन्या समृद्धि योजना खाता कौन खोल सकता है?

10 वर्ष से कम आयु की बालिका के नाम पर अभिभावक।
भारत में डाकघर या किसी भी बैंक में बालिकाओं के नाम पर केवल एक खाता खोला जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × two =