लखनऊ : चार दिन से पति और बेटे की लाश के साथ थी रंजना, घर देखकर दंग रह गई पुलिस

लखनऊ। राजधानी के कृष्णानगर एलडीए कालोनी में शनिवार रात कोरोना संक्रमित अरविंद गोयल (60) और उनके बेटे आशीष गोयल (25) के शव घर में पड़े मिले। वहीं अरविंद की पत्नी रंजना गम्भीर हालत में मिली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दिव्यांग रंजना को अस्पताल में भर्ती कराया। बता दें कि कोरोना से संक्रमित होने के कारण ये होम आइसोलेशन थे। जिसमें पिता-पुत्र की मौत हो गई। वहीं, दिव्यांग रंजना चार दिन से पति और बेटे के शव के साथ ही रह रहीं थीं।

इंस्पेक्टर महेश दुबे ने बताया कि एलडीए कालोनी मकान नम्बर 215 में अरविंद गोयल का परिवार रहता था। शाम के वक्त स्थानीय लोगों ने मकान से दुर्गंध आने की सूचना दी। जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। दरवाजा तोड़ कर पुलिस मकान में दाखिल हुई। जहां अरविंद और आशीष के शव अलग-अलग कमरों में पड़े मिले। अरविंद की पत्नी रंजना भी घर में थीं। इंस्पेक्टर के मुताबिक रंजना चल नहीं सकती थीं। ऐसे हालात में वह घर में ही मौजूद थी। उनके सामने पति का शव पड़ा था। खुद रंजना भी कोरोना संक्रमित थीं। वहीं, पुलिस ने हर तरह की मदद का भरोसा दिलाकर किसी तरह अस्पताल में भर्ती कराया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *