Lucknow Girl Case: कैब चालक की पिटाई मामले तीन पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

लखनऊ। लखनऊ के कृष्णानगर में कैब चालक की पिटाई के मामले में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इंस्पेक्टर महेश कुमार दुबे और दो दारोगा लाइन हाजिर कर दिये गये हैं। इन तीनों को मामले में लापरवाही के कारण लाइन हाजिर किय गया है। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने बताया कि, मामले की जांच एडीसीपी सेंट्रल चिरंजीव नाथ सिन्हा को दी गई है। जांच में अगर कोई और पुलिसकर्मी दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि कृष्णानगर कोतवाली के इंस्पेक्टर महेश कुमार दुबे, सेकंड अफसर उप निरीक्षक मोहम्मद मन्नान और भोलाखेड़ा चौकी के प्रभारी हरेंद्र सिंह को लापरवाही का दोषी पाया गया है। उन्हें लाइन हाजिर कर दिया गया है और मामले की जांच कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि कृष्णानगर कोतवाली में अमीनाबाद के इंस्पेक्टर आलोक कुमार राय को चार्ज दिया गया है जबकि अमीनाबाद में पुलिस कमिश्नर के वाचक सूर्यबली पांडे की तैनाती दी गई है।

गौरतलब है कि कैब चालक की पिटाई का मामला अब रंग ले रहा है। सोमवार को कैब चालक की पिटाई करने वाली युवती प्रियादर्शिनी के खिलाफ लूट और तोड़फोड़ की एफआईआर दर्ज हुई तो मंगलवार को प्रियादर्शिनी ने मीडिया के सामने आकर अपना पक्ष रखा। प्रियादर्शिनी ने कैब चालक और उसके साथियों पर पिटाई का आरोप लगाते हुए पुलिस से जांच की मांग की है।

उधर, कैब चालक सआदत अली सिद्दीकी के साथ उसके दो भाइयों के खिलाफ शांतिभंग की कार्रवाई तथा कैब छोड़ने के एवज में 10 हजार रुपये की मांग करने वाले चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी चल रही थी। कृष्णानगर पुलिस ने इस बाबत एक रिपोर्ट आला अधिकारियों को भेजी है। साथ ही प्रियादर्शिनी के खिलाफ दर्ज मुकदमे की विवेचना बंथरा थाना ट्रांसफर कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twelve − four =