Wednesday , January 19 2022

रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया चकबंदी लेखपाल, किसान से मांगे थे 20 हज़ार

Muzaffarnagar. मुजफ्फरनगर में उस समय हड़कंप मच गया जब मेरठ से आई एंटी करप्शन टीम ने एक चकबंदी लेखपाल को किसान से 20 हज़ार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। एंटी करप्शन की मेरठ यूनिट ने पीड़ित किसान की शिकायत पर मुजफ्फरनगर में पहुंचकर थाना सिविल लाइन क्षेत्र के साईं धाम मंदिर के निकट आरोपी चकबंदी लेखपाल जनेश्वर आवास पर पहुंची। जहां से आरोपी लेखपाल को गिरफ्तार किया गया। टीम आरोपी लेखपाल को गिरफ्तार कर सिविल लाइन थाने लाई जहां आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

मामला जनपद मुजफ्फरनगर के थाना सिविल लाइन क्षेत्र का है जहां एंटी करप्शन टीम ने एक किसान परवेज आलम की शिकायत पर लेखपाल जनेश्वर के घर पहुंच कर उसे उस समय रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों दबोच लिया, जब वह है एक किसान से उसकी जमीन की पैमाइश के बदले 20000 की रिश्वत ले रहा था ।

जानें क्या है मालमा

दरअसल उत्तराखंड के रुड़की निवासी किसान परवेज आलम की जमीन जनपद मुजफ्फरनगर के थाना पुरकाजी क्षेत्र के गांव गोधना में है। जहां चकबंदी भी चल रही है किसान परवेज आलम का आरोप है कि उसकी जमीन पहले तो कम कर दी गई और पैमाइश के बदले उससे भारी रकम की वसूली की गई। जिसमें लेखपाल जनेश्वर व कानूनगो हो भी शामिल है। चकबंदी विभाग के अधिकारियों द्वारा उसे काफी समय से परेशान किया जा रहा था और उससे 50000 की डिमांड की जा रही थी।

जिसमें मामला तय हो गया मगर पीड़ित किसान परवेज आलम एंटी करप्शन की मेरिट यूनिट के पास पहुंचे और अपनी पूरी आपबीती बताई जिसके बाद एंटी करप्शन टीम के प्रभारी अशोक कुमार के नेतृत्व में टीम ने मुजफ्फरनगर पहुंचकर थाना सिविल लाइन क्षेत्र के साईं धाम मंदिर के निकट स्थित लेखपाल जनेश्वर के मकान पर पहुंच कर उसे किसान परवेज आलम से 20000 की नगदी लेते हुए रंगे हाथों दबोच लिया और उसे थाना सिविल लाइन में ले आई। जिसके बाद एंटी करप्शन टीम की ओर से सिविल लाइन थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया ।है जिसके बाद पुलिस ने आरोपी लेखपाल को रंगे हाथों गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − 11 =