Wednesday , June 22 2022

लखीमपुर खीरी हिंसा: संयुक्त किसान मोर्चा ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र, की ये मांग

Lucknow. लखीमपुर खीरी में भड़की हिंसा के बाद यूपी की राजनीति गर्म है। तमाम विपक्षी दल लखीमपुर पहुंच की कोशिश कर रहे है। लेकिन प्रशासन की ओर से उन्हें रोका जा रहा है। बता दें कि लखीमपुर खीरी में रविवार को किसान प्रदर्शन के दौरान चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। आरोप है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे ने उन किसानों पर कार चढ़ाई थी। मामले में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव और सपा नेता रामगोपाल यादव को गिरफ्तार किया है। तीनों पर धारा 144 का उल्लंघन करने का आरोप है।

उधर, लखीमपुर खीरी मामले में संयुक्त किसान मोर्चा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखा है। इसमें गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को हटाने, उनके बेटे आशीष मिश्रा पर 302 के तहत हत्या का केस दर्ज करने, जांच के लिए SIT के गठन की मांग की गई है। आगे हरियाणा सीएम खट्टर पर हिंसा को भड़काने का आरोप लगाया गया है, कहा गया है कि उनको सीएम पद से हटाया जाना चाहिए।

लखीमपुर खीरी की घटना पर यूपी कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि, सरकार इस मामले को गंभीरता से ले रही है और मामले की गहराई से जांच हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि दोषी को कड़ी सज़ा दी जाएगी। चुनाव नज़दीक है तो विपक्ष लखीमपुर खीरी का राजनीतिक पर्यटन करना चाहता है। बता दें कि लखीमपुर खीरी में पुलिस प्रशासन और मृतक किसानों के बीच बातचीत जारी है। आईजी लखनऊ लक्ष्मी सिंह मृतक किसानों के परिवारों से बात कर रही हैं। मीटिंग में किसान नेता राकेश टिकैत भी मौजूद हैं। घटनास्थल पर किसान शवों के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × 3 =