Tuesday , June 21 2022

लखीमपुर खीरी हिंसा पर योगी सरकार का फैसला, मृतकों के परिजनों को 45 लाख रुपए और एक सरकारी नौकरी

Lucknow. लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद यूपी का राजनीति गलियारा गर्म है। तमाम विपक्षी दलों के नेता लखीमपुर जाने की कोशिश में जुटे है। लेकिन प्रशासन की कड़ी सुरक्षा के चलते उन्हें प्रवेश नहीं मिल पा रहा है। जो भी जाने की कोशिश कर रहा है पुलिस उसे हिरासत में ले रही है। इसी के साथ ही प्रदेश में धारा 144 लागू है। जिस कारण राजनीतिक दलों के नेताओं को ज़िले का दौरा करने की अनुमति नहीं है।

इसी बीच योगी सरकार ने मामले को बढ़ता देख मुआवजे की घोषणा की है। एडीजी क़ानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने सोमवार को बताया कि कल लखीमपुर खीरी में मारे गए 4 किसानों के परिवारों को सरकार 45 लाख रुपये और एक सरकारी नौकरी देगी। घायलों को 10 लाख रुपये दिए जाएंगे। किसानों की शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज़ की जाएगी। हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज मामले की जांच करेंगे।

इसी के साथ ही उन्होंने बताया कि सीआरपीसी की धारा 144 लागू होने के कारण राजनीतिक दलों के नेताओं को ज़िले का दौरा नहीं करने दिया गया है। हालांकि, किसान संघों के सदस्यों को यहां आने की अनुमति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

nineteen + 3 =