Wednesday , January 19 2022

IND vs SA 3rd Test : DRS को लेकर खड़ा हुआ विवाद, जानें क्या था मालमा ?

खेल डेस्क। भारत और दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम के बीच टेस्ट सीरीज का आखिरी और फाइनल मुकाबला केपटाउन में खेला जा रहा है। मैच में विवादित डीआरएस का मामला लगातार बड़ा होता जा रहा है। अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर के रिव्यू का वीडियो देखने के बाद लगातार भारतीय फैंस सोशल मीडिया पर अपनी नाराजगी जाहीर कर रहे हैं।

मैच के दौरान कमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि डीन एल्गर के घुटने में लगने वाली गेंद स्टंप्स के ऊपर से कैसे जा सकती है। इसके बाद भारतीय फैंस ने सोशल मीडिया पर अपनी भड़ास निकाली है और हॉक आई तकनीकी का मजाक भी बनाया है।

वसीम जाफर और आकाश चोपड़ा जैसे दिग्गज खिलाड़ियों ने भी इस मामले पर हैरानी जताई है। वसीम जाफर ने कहा कि उनका कहना है कि तकनीकी 99 फीसदी सही है, लेकिन आज हमें बचा हुआ एक फीसदी हिस्सा देखने को मिला। आकाश चोपड़ा ने कहा कि इस सीरीज में दो डीआरएस के फैसले उनकी समझ से बाहर थे। पहला जब पहले टेस्ट में मयंक अग्रवाल के पैर में लगने वाली गेंद स्टंप में जाकर टकराई थी और दूसरा जब तीसरे टेस्ट में डीन एल्गर के पैर में लगने वाली गेंद स्टंप्स के ऊपर से चली गई।

क्या था मामला?

दरअसल, केपटाउन टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी का 21वां ओवर अश्विन कर रहे थे, जब उनकी गेंद डीन एल्गर के पैर में जाकर लगी और भारत ने एलबीडब्ल्यू की अपील की। अंपायर ने उन्हें आउट दे दिया। एल्गर ने अपने साथी खिलाड़ी कीगन पीटरसन से कुछ बात की और अंपायर के फैसले को चुनौती दी। रीप्ले में सब कुछ ठीक था, लेकिन जब हॉक आई तकनीकि ने गेंद को स्टंप के ऊपर जाता दिखाया तो अफ्रीकी टीम के अलावा कोई भी इस पर यकीन नहीं कर पाया। रीप्ले देखने के बाद खुद अंपायर के मुंह से निकला “यह असंभव है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + 8 =