दारापुरी और सदफ जाफर रिहा, प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ लखनऊ में प्रदर्शन में हिंसा के आरोप में गिरफ्तार पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी और कांग्रेस की नेता सदफ जाफर को मंगलवार को जेल से रिहा कर दिया गया। इनके जेल से रिहा होने के बाद कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया है।

जेल से रिहा होने के बाद कांग्रेस नेता सदफ जाफर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि जेल जाने और पिटने का डर अब दूर हो गया है, इसके लिए मैं योगी आदित्यनाथ जी को धन्यवाद देती हूं। अब तो मैं तब तक प्रदर्शन करुंगी जब तक यह अमानवीय कानून वापस नहीं लिया जाता।

पुलिस पर अमानवीय व्‍यवहार करने का आरोप

वहीं, एसआर दारापुरी ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि हम तो योगी आदित्यनाथ सरकार की सभी दमनकारी नीतियों का विरोध करेंगे। लखनऊ में हजरतगंज पुलिस ने थाने उनके साथ बहुत अमानवीय व्यवहार किया। इसके साथ ही महिलाओं के साथ अभद्रता की गई। उन्होंने कहा कि उन पर हिंसा को प्रेरित करने का आरोप लगा, जोकि गलत है।

प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट

उधर, सदफ जाफर और दारापुरी की रिहाई पर प्रियंका गांधी ने कहा कि अंबेडकरवादी चिंतक और पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी और कांग्रेस नेता सदफ जाफर आज जेल से रिहा हो गए। भाजपा सरकार ने निर्दोष लोगों और बाबासाहेब डॉ. अम्बेडकर की विरासत को आगे बढ़ाने वाले लोगों को गिरफ्तार करके अपनी असली सोच दिखाई है।

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में विरोध प्रदर्शन हो गया था। इस दौरान लखनऊ में भी उग्र प्रदर्शन हुए थे। प्रदर्शन को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता सदफ जाफर और पूर्व आईपीएस दारापुरी को गिरफ्तार कर लिया। यूपी पुलिस ने दोनों पर दंगा भड़काने का आरोप लगाया था। कोर्ट में यूपी पुलिस ने अपने दावों को साबित नहीं कर पायी।