Monday , January 24 2022

Diwali 2021: दीपावली पर किस मुहूर्त में करें लक्ष्मी पूजा, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

धर्म डेस्क। देश इस साल गुरुवार 4 नवंबर को दीपावली(Diwali 2021) का त्योहार मनाएगा। हिंदू धर्म में दिवाली बहुत ही प्रमुख और उत्साह के साथ मनाया जाने वाला त्योहार है। हर वर्ष हिंदू पंचांग के अनुसार कार्तिक अमावस्या तिथि पर दिवाली का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन घरों को दीए की रोशनी से सजाया जाता है। वहीं, दिवाली की शाम को मुख्य रूप से माता लक्ष्मी, भगवान गणेश, देवी सरस्वती, कुबेर और काली मां की पूजा होती है।

Diwali 2021: Significance, history, date, time, puja muhurat and all you need to know - Hindustan Times

मान्यता है कि कार्तिक अमावस्या तिथि पर ही देवी लक्ष्मी समुद्र मंथन के दौरान प्रकट हुईं थीं और दिवाली की रात को पृथ्वी भ्रमण पर निकली थीं। दिवाली की शाम को प्रदोष काल के समय लक्ष्मी पूजन का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि दिवाली की शाम को जिन घरों में विशेष साफ-सफाई और पूजा-पाठ होती है वहां पर मां लक्ष्मी सदैव के लिए अपना निवास बन लेती हैं। आइए जानते हैं दिवाली पर लक्ष्मी पूजन का महत्व, पूजा विधि…

Diwali 2019: Interesting Facts About Goddess Laxmi For Wealth - इन लोगों के घर में लक्ष्मी जी नहीं रखतीं कदम, दिवाली के पहले त्याग दें ये चीजें | Patrika News

दिवाली 2021 लक्ष्मी-गणेश पूजा मुहूर्त

-लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त- 06:10 PM से लेकर 08:06 PM तक

-लक्ष्मी पूजा प्रदोष काल मुहूर्त – 05:35 PM से 08: 10 PM तक

-लक्ष्मी पूजा निशिता काल मुहूर्त – 11:38 PM से 12:30 AM तक

-अमावस्या तिथि प्रारम्भ – नवम्बर 04, 2021 को 06:03 AM बजे

-अमावस्या तिथि समाप्त – नवम्बर 05, 2021 को 02:44 AM बजे

Diwali 2020 Totke and Upay How to Please Maa Lakshmi on Deepawali Par Maa Laxmi ko Kaise Khush Kare - Diwali 2020: इस दिवाली कर्ज मुक्ति से लेकर नौकरी पाने तक के

लक्ष्मी पूजा के लिए शुभ चौघड़िया मुहूर्त-

-प्रातः मुहूर्त (शुभ) – 06:35 AM से 07:58 AM

-प्रातः मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) – 10:42 AM से 02:49 PM

-अपराह्न मुहूर्त (शुभ) – 04:11 PM से 05:34 PM

-शाम का मुहूर्त (अमृत, चर) – 05:34 PM से 08:49 PM

-रात्रि मुहूर्त (लाभ) – 12:05 AM से 01:43 AM

पूजा विधि

दिवाली के दौरान लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमा की पूजा की जाती है। लक्ष्मी को धन/संपत्ति की देवी माना जाता है। वहीं भगवान गणेश बुद्धि और कार्य को सफल करने वाले देवता माने जाते हैं। लक्ष्मी पूजा में मीठे का भोग जैसे खीर, मिठाई, हलवा व मोदक का भोग लगाया जाता है। दीपावली के मौके पर बहुत से लोग व्रत भी रखते हैं और देवी-देवताओं के साथ अपने पूर्वजों के नाम का दिया भी जलाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two − two =