Thursday , June 23 2022

कबीर मठ के प्रशासनिक अधिकारी की हत्या का आरोपित मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार

लखनऊ : हसनगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत डालीगंज में स्थित कबीर मठ के प्रशासनिक अधिकारी धीरेंद्र दास की हत्या मामले में फरार चल रहे आरोपी को पुलिस ने गिरतार कर लिया है। आरोपी पर पहले से ही 25 हज़ार का इनाम था। शनिवार देर रात क्राइम ब्रांच और मड़ियांव पुलिस ने घैलापुल के पास से जितेंद्र सिंह उर्फ जीतू उर्फ जीतेश को गिरफ्तार किया

पोलिस ने रोकने  का प्रयास किया तो आरोपी ने की फायरिंग

एडीसीपी नार्थ राकेश श्रीवास्तव ने बताया कि क्राइम ब्रांच टीम को इस बात की जानकारी मिली थी कि जितेंद्र और उसका कुछ साथी बाइक से मड़ियांव की ओर जा रहे हैं। जिसके बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने मड़ियांव पुलिस से सपंर्क कर इस बात की सूचना दी। पुलिस ने घैलापुल के पास पहुचकर बाइक सवार जितेंद्र और उसके साथी को रोकने का प्रयास किया लेकिन आरोपी ने फायरिंग कर दी। जिसके बाद क्रॉस फायरिंग के दौरान जितेंद्र घायल हुआ, जबकि उसका साथी चकमा देकर फरार हो गया। पुलिस ने बताया कि उस पर हरदोई और सीतापुर में कई केस दर्ज हैं।

धीरेंद्र दास को गोली मारहो गए थे फरार

दरअसल बीते 24 अगस्त सोमवार को डालीगंज में कबीर मठ की बुकिंग के लिए दो लोग आए थे। यहां धार्मिक और अन्य समारोह आयोजित होते हैं। जिसके लिए मठ को बुक किया जाता है। बात करते-करते एक ने प्रशासनिक अधिकारी धीरेंद्र दास को गोली मार दी थी। इसके बाद दोनों फरार हो गए थे। 26 अगस्त को धीरेंद्र दास की मौत हो गई थी। पुलिस ने हत्याकांड की साजिश में शामिल 2 लोग सुधीर पांडे, आलोक वर्मा को गिरफ्तार किया था।

पूछताछ में पता चला था कि तीन अन्य बदमाशों के साथ मिलकर उन लोगों ने हत्याकांड की साजिश रची थी। दरअसल, पकड़े गए दोनों आरोपियों ने बताया था कि शूटर से हमला करवाया था। एडीसीपी उत्तरी राकेश श्रीवास्तव का कहना है कि कबीर मठ के अधिकारी धीरेंद्र दास की हत्या पैसों के लेन देन में की गई थी। धीरेंद्र के साथी ने हत्या कराई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seventeen − three =