रक्षा मंत्रालय ने लगाई 101 उपकरणों के आयात पर रोक, स्वदेशीकरण को मिलेगा बढ़ावा

नई दिल्ली : देश में आत्मनिर्भर भारत अभियान की पहल को आगे बढाने के उद्देश्य से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्रालय अब आत्मनिर्भर भारत पहल के लिए एक बड़ा पुश देने को तैयार है. रक्षा उत्पादन के स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए रक्षा मंत्रालय 101 से ज़्यादा वस्तुओं पर आयात प्रतिबंध (Embargo) पेश करेगा.

101 वस्तुओं की एक सूची तैयार

उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्रालय ने 101 वस्तुओं की एक सूची तैयार की है जिनके आयात पर प्रतिबंध होगा. यह रक्षा में आत्मनिर्भरता की दिशा में एक बड़ा कदम है. दरअसल ये फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदेश पर लिया गया है. इस फैसले से भारत के रक्षा उद्योग को बड़े पैमाने पर उत्‍पादन का अवसर मिलेगा. रक्षा मंत्री ने कहा कि इस फैसले से भारतीय रक्षा उद्योग को निगेटिव लिस्ट में शामिल आइटम्स के निर्माण का अवसर मिलेगा.

2020 से लेकर 2024 के बीच होगा लागू

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सभी स्‍टेकहोल्‍डर्स से विचार विमर्श के बाद प्रोडक्ट यानी रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक लगाई जाएगी. अभी जो फैसले किए गए हैं, वो 2020 से लेकर 2024 के बीच लागू किए जाएंगे. 101 उत्पादों की सूची में आर्मर्ड फाइटिंग व्‍हीकल्‍स (AFVs) भी शामिल हैं. साथ ही उन्होंने बताया कि इस लिस्ट को रक्षा मंत्रालय ने सभी स्‍टेकहोल्‍डर्स जैसे कि सशस्त्र बलों, निजी और सरकारी उद्योगों से विचार विमर्श के बाद तैयार किया है. बातचीत के दौरान भारत में गोला-बारूद और विभिन्न रक्षा उपकरणों के निर्माण को लेकर भारतीय उद्योग की मौजूदा और भविष्य की क्षमताओं का आकलन भी किया गया.

घरेलू इंडस्‍ट्री को मिलेगा 4 लाख करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट

राजनाथ सिंह ने कहा कि ऐसे उत्पादों की तकरीबन 260 योजनाओं के लिए तीनों सेनाओं ने अप्रैल 2015 से अगस्‍त 2020 के बीच लगभग साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये के ठेके दिए थे. अनुमान है कि अगले 6 से 7 साल में घरेलू इंडस्‍ट्री को करीब 4 लाख करोड़ रुपये के कॉन्ट्रैक्ट दिए जाएंगे.

बता दें कि भारत-चीन के बीच जारी सीमा विवाद के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के इस फैसले को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है. इससे पहले, मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज सुबह 10 बजे एक महत्वपूर्ण ऐलान करेंगे और कयास लगाए जा रहे थे कि रक्षा मंत्री रक्षा आयात को लेकर निगेटिव सूची के संदर्भ में कोई ऐलान कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

two × 1 =