Thursday , June 23 2022

असहमति पत्र के पीछे BJP से मिलीभगत, राहुल के बयान पर भड़के कपिल सिब्बल

नई दिल्ली : पार्टी के नेतृत्व को लेकर कांग्रस वर्किंग कमेटी की बैठक के दौरान आज राहुल गांधी ने सोनिया गाँधी को लिखे गए असहमति पत्र को लेकर सवाल उठाए. उन्होंने पार्टी नेतृत्व के मुद्दे पर सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि इसके पीछे भाजपा के साथ नेताओं की साठ गांठ है.

जिसके बाद कांग्रेस के वरिष्ट नेता कपिल सिब्बल नाराज़गी जताते हुए खुलकर सामने आए हैं. उन्होंने बैठक के दौरान ही ट्वीट किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘राहुल गांधी कह रहे हैं हम भारतीय जनता पार्टी से मिले हुए हैं. मैंने राजस्थान हाईकोर्ट में कांग्रेस पार्टी का सही पक्ष रखा, मणिपुर में पार्टी को बचाया. पिछले 30 साल में ऐसा कोई बयान नहीं दिया जो किसी भी मसले पर भारतीय जनता पार्टी को फायदा पहुंचाए. फिर भी कहा जा रहा है कि हम भारतीय जनता पार्टी के साथ हैं.’

असहमति पत्र के पीछे BJP से मिलीभगत, राहुल के बयान पर भड़के कपिल सिब्बल

हालांकि कुछ समय बाद कपिल सिब्बल ने राहुल गांधी के कथित बयान पर किया ट्वीट हटा लिया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि ‘राहुल गांधी ने मुझे व्यक्तिगत रूप से सूचित किया उन्होंने इस तरह का कोई बयान नहीं दिया. इसलिए मैं अपना ट्वीट हटा रहा हूं.’

इसके अलावा बैठक में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अगर राहुल गांधी की “भाजपा के साथ मिलीभगत” की टिप्पणी सही साबित हुई तो वे इस्तीफा दे देंगे. आजाद ने कहा कि चिट्ठी लिखने की वजह कांग्रेस की कार्यसमिति थी. इसके अलावा राहुल गांधी ने सोनिया गांधी को लिखे गए पत्र के लिए टाइमिंग पर सवाल खड़े किये. उन्होंने कहा कि जब पार्टी राजस्थान एवं मध्य प्रदेश में विरोधी ताकतों से लड़ रही थी और सोनिया गांधी अस्वस्थ थीं तो उस समय ऐसा पत्र क्यों लिखा गया.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 + 2 =