जानें आखिर क्यों ? पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को कम लगी कोरोना वैक्सीन

हेल्थ डेस्क। देश इस वक्त कोरोना के संक्रमण से जूझ रहा है। ऐसे में इससे बचने का एक मात्र उपाए है कोरोना की वैक्सीन। जिसके लिए राज्य सरकारें लगी हुई हैं। इसी बीच एक खुलासा हुआ है जिससे पता चला है कि पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं कोरोना की वैक्सीन कम लगवा रही हैं। 16 जनवरी से लेकर अबतक 14.99 करोड़ महिलाओं को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है, जबकि 17.8 पुरुषों को कोरोना की डोज दी जा चुकी है, जो कि कुल टीकाकरण का 54 फीसदी है। इसके अलावा दूसरे लिंग वर्ग के 54693 लोगों को टीकाकरण लगाया जा चुका है।

पिछले आठ दिनों में देश में 4.61 करोड़ खुराकें लगाई जा चुकी हैं, जिसे सरकार ने इराक (4.02 करोड़), कनाडा (3.77 करोड़), सऊदी अरब (3.48 करोड़) और मलेशिया (3.23 करोड़) की आबादी से ज्यादा बताया है। हालांकि देश में पुरुष और महिलाओं द्वारा लगाई गई वैक्सीन की बात करें तो सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, महिलाएं तीन करोड़ खुराकों से पुरुषों से पीछे चल रही हैं।

ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई, लेकिन पहले ही गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इससे अलग कर दिया। जानकारों का मानना है कि यह एक बड़ा कारण है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं को कम वैक्सीन लगी है। इसलिए इन दोनों के अनुपात में विषमता है। इसी के साथ टीकाकरण की शुरुआत में यह अफवाह फैलाई गई कि पीरियड्स के दौरान महिलाएं वैक्सीन नहीं ले सकती, इससे प्रजनन क्षमता प्रभावित हो सकती है। इन्हीं अफवाहों की वजह से टीकाकरण में महिलाओं की संख्या कम रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × 2 =