प्लेन क्रैश से है “Black Box” का संबंध, अमेरिका-ईरान में फिर बवाल

vio1— ईरान में तेहरान स्थित इमाम खोमेनी एयरपोर्ट पर बुधवार सुबह बोइंग-737 विमान उड़ान भरने के 3 मिनट बाद ही प्लेन क्रैश हो गया। इसमें विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गयी जिसके बाद अमेरिका और इरान में बढ़ते तनाव को देखते हुए ईरान के विमानन अधिकारियों ने कहा है कि बुधवार को यूक्रेन के दुर्घटनाग्रस्त बोइंग 737 विमान का ब्लैक बॉक्स अमेरिकियों को नहीं दिया जायेगा.आपको बता दें ये एक तरह का रिकॉर्डर होता है जो हवाई जहाज में हुए किसी भी तरह की घटना के कारणों का पता लगाने के लिए लगाया जाता है इसी को ब्लैक बॉक्स कहते हैं ये हवाई जहाज का ब्लैक बॉक्स या फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर, विमान में उड़ान के दौरान विमान से जुडी सभी तरह की गतिविधियों जैसे विमान की दिशा, ऊँचाई, हलचल, केबिन का तापमान सहित 88 प्रकार के आंकड़ों के बारे में 25 घंटों से अधिक की रिकार्डेड जानकारी रखता है

वीओ 2— मेहर समाचार एजेंसी के अनुसार, ईरान के नागरिक उड्डयन संगठन के प्रमुख अली अबेदजादेह ने कहा, हम विमान निर्माता (बोइंग) और अमेरिकियों को ब्लैक बॉक्स नहीं देंगे.तेहरान के मुख्य हवाई अड्डे से उड़ान भरने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हुए यूक्रेन के विमान के ब्लैक बॉक्स को ईरान के बचाव दल को मिले हैं. ईरान के नागर विमानन प्राधिकरण के प्रवक्ता रेजा जफरजदा ने बताया कि विमान के दो ब्लैक बॉक्स मिल गये हैं. ऐसे में ईरान की ओर से अमेरिका को ब्लैक बॉक्स नहीं सौंपने की घोषणा के बाद सस्पेंस बढ़ गया है कि विमान कैसे क्रेश हुआ.

फाइनल एंकर–अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की वजह क्या थी. ईरान के सरकारी मीडिया ने अपनी रिपोर्ट्स में विमान में तकनीकी खामी होने की बात कही है. हालांकि, यूक्रेन ने किसी भी तरह की तकनीकी समस्या से इनकार किया है और कहा है कि पायलट ने इमर्जेंसी कॉन्टेक्ट नहीं किया था. इसके बाद अब ईरान की ओर से ब्लैक बॉक्स नहीं सौंपे जाने की बात से विमान के क्रैश होने को लेकर सस्पेंस गहरा गया है

https://www.youtube.com/watch?v=vw9l6Ag7pO8