जिला कार्यालय के उद्घाटन समारोह में झारखंड सरकार पर जम कर बरसे जेपी नड्डा

जिला कार्यालयों के उद्घाटन समारोह में झारखंड सरकार पर जम कर बरसे जेपी नड्डा

जिला कार्यालयों के उद्घाटन समारोह में झारखंड सरकार पर जम कर बरसे जेपी नड्डा

Spread the News

रांची : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने झारखंड में 8 नवनिर्मित भाजपा जिला कार्यालयों का उद्घाटन किया. उन्होंने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा की धरती पर भाजपा के कार्यालय का निर्माण होना गौरव की बात है. झारखंड में भाजपा के 8 जिला कार्यालयों का श्रीगणेश करते हुए पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को उन्होंने शुभकामनाएं दीं.

वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पूरा हुआ उद्घाटन

इन आठ जिलों में नवनिर्मित कार्यालयों के उद्घाटन समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पूरा किया गया. इस दौरान नड्डा ने प्रदेश भाजपा के नेताओं व कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे प्रदेश में चल रहे ‘‘कुशासन’’ पर अंकुश लगाने के लिए जनता के बीच जाएं और एक सफल और अच्छी विपक्ष की भूमिका निभाएं.

500 से ज्यादा कार्यालय बनकर तैयार

उन्होंने कहा ‘भगवान बिरसा मुंडा की धरती जहां सच्चाई के लिए लड़ने पर हम सभी प्रेरित हुए हैं. जहां सही बात की लड़ाई लड़ने के लिए हम सभी को प्रेरणा मिली है, ऐसी भूमि पर कार्यालय का निर्माण होना, हम सभी के लिए बहुत ही खुशी की बात है. PM जी का संगठन की तरफ रुझान ये है कि उन्होंने 2014 में कहा था दिल्ली में हमारा भव्य कार्यालय होना चाहिए और हर जिले में हमारा अच्छा कार्यालय होना चाहिए. अमित शाह जी के नेतृत्व में लगभग 500 से ज्यादा कार्यालय बनकर तैयार हुए. अभी 400 कार्यालयों पर काम चल रहा है.’

इसके बाद कोरोनाकाल में सरकार की उप्लाभियों को लेकर उन्होंने कहा कि ‘झारखंड भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोरोना संक्रमण काल में करीब 12.74 लाख लोगों को भोजन दिया, करीब 27 लाख राशन किट बांटे, प्रदेश के बाहर करीब 16.5 हज़ार लोगों को दूसरे प्रदेश की यूनिट के माध्यम से भोजन पहुंचाया, 31.13 लाख फेस कवर बांटे हैं, करीब 8 लाख सेनेटाइज़र बांटे हैं.’

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार पर साधा निशाना

इसी बीच झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आज झारखंड में कानून व्यवस्था चरमरा गई है. झारखंड अराजकता का दूसरा नाम बन गया है. उन्होंने कहा कि ‘भाजपा की पूर्ववर्ती सरकार के समय झारखंड में नक्सलवाद करीब समाप्त हो गया था और लोग आराम से घूम फिर सकते थे लेकिन उसका प्रकोप आज फिर से बहुत बढ़ गया है.’ उन्होंने कहा, ‘आज नक्सलवाद, जो दिखाई नहीं देता था, उसका प्रकोप इतना बढ़ गया है कि जो झारखंड छोड़ कर के चले गए थे, वे आकर झारखंड में फिर से दनदना रहे हैं. वो मस्त हैं. यह तभी होता है जब शासन कमजोर होता है, जब शासक बेपरवाह होता है. ये तभी होता है जब शासक को जनता की तकलीफ समझने की इच्छा नहीं होती.’


Spread the News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *