Thursday , June 23 2022

JDU से निष्कासित श्याम रजक हुए RJD में शामिल, MLA पद से दिया था इस्तीफा

पटना : बिहार की राजनीति में महादलित वोटबैंक के बीच बड़ा चेहरा माने जाने वाले श्याम रजक सोमवार को राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) में शामिल हो गए। वे 11 साल बाद आरजेडी में आए हैं। तेजस्वी यादव ने उन्हें आरजेडी की सदस्यता दिलाई। नीतीश कुमार की सरकार में मंत्री रहे श्याम रजक को रविवार को जेडीयू से हटा दिया गया था।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर किया वार

श्याम रजक के जनता दल (यूनाइटेड) से निष्कासित किये जाने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तीखा हमला किया। उन्होंने आज कहा जनता दल (यूनाइटेड) पार्टी में लगभग 99 प्रतिशत लोग बिहार के सीएम नीतीश कुमार से नाराज हैं, लेकिन निर्णय नहीं ले पा रहे हैं। मैं दूसरों के बारे में नहीं जानता, लेकिन मैं राष्ट्रीय जनता दल में शामिल हो रहा हूं। श्याम रजक ने आज कहा मुझे निष्कासित नहीं किया गया है, मैं अध्यक्ष को अपना इस्तीफा देने जा रहा हूं। मैं नहीं रह सकता जहां सामाजिक न्याय छीना जा रहा है.

पार्टी से निकालने के बाद मंत्री पद भी ले लिया गया

बिहार की सत्ताधारी पार्टी जनता दल (युनाइटेड) ने रविवार को उद्योग मंत्री श्याम रजक को पार्टी से निकाल दिया था। इसके साथ उनका मंत्री पद भी छिन गया। जदयू के प्रदेश महासचिव नवीन कुमार आर्य ने एक बयान जारी कर कहा था कि प्रदेश अध्यक्ष और सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह ने रविवार को फुलवारी के विधायक श्याम रजक को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित करते हुए पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

2009 में राजद छोड़कर जदयू में हुए थे शामिल

रजक को मंत्रिपरिषद से भी हटा दिया गया है। राजभवन के एक आदेश के मुताबिक, मुख्यमंत्री की सलाह पर राज्यपाल ने निर्णय लिया है कि मंत्री श्याम रजक तत्काल प्रभाव से मंत्रिपरिषद के सदस्य नहीं रहेंगे। राजद सरकार में मंत्री रहे रजक वर्ष 2009 में राजद छोड़कर जदयू में शामिल हुए थे। लालू प्रसाद के करीबी नेताओं में माने जाने वाले रजक जदयू के टिकट पर विधानसभा चुनाव जीतकर फिर से मंत्री बने थे। बिहार में चुनाव के ठीक पहले राज्य का दलित चेहरा माने जाने वाले रजक का जदयू से निकल जाना सत्ताधारी पार्टी के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty + seven =