बिहार : पहली बार 11 मुस्लिम महिलाएं एक साथ बनीं दारोगा

पटना। बिहार पुलिस अधीनस्थ सेवा आयोग (बीपीएसएससी) ने पुलिस सब-इंस्पेक्टर, सार्जेंट और सहायक अधीक्षक जेल (सीधी भर्ती) के पदों के लिए फाइनल रिजल्ट बीते गुरुवार को जारी कर दिया है। इस बार इस परीक्षा में मुस्लिम महिलाओं ने अपना परचम लहराया है। बिहार पुलिस में ऐसा पहली बार हुआ है जब एक साथ 11 मुस्लिम महिलाएं दारोगा बनी हैं। महिलाओं के साथ-साथ 44 मुस्लिम पुरुष भी बतौर दारोगा सेवा देंगे।

आपको बता दें कि जिन मुस्लिम महिलाओं ने परीक्षा में जीत हासिल की है। इन सभी ने हज भवन बिहार सरकार द्वारा संचालित कोचिंग में ट्रेनिंग ली थी। इनमें से कुछ लोगों ने कोचिंग की तो किसी ने फिजिकल के लिए ट्रेनिंग ली। वहीं हज भवन में संचालित कोचिंग में अभ्यार्थियों का मार्गदर्शन करने वाले राशिद हुसैन ने बताया कि ऐसा पहली बार जब इतनी संख्या में मुस्लिम महिलाएं दारोगा बनी हैं। ये हमारे लिए खुशी की बात है।

गौरतलब है कि इससे पहले जब राज्य में दारोगा बहाली हुई थी तो उसमें 5 मुस्लिम महिलाएं चयनित हुई थीं। लेकिन इस बार महिलाओं ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। रिजल्ट जारी होने के बाद हज भवन में मंगलवार को एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें परीक्षा में सफल हुए सभी अभ्यर्थियों को बुलाया गया था। बता दें कि हज भवन से इस बार जहां 55 अभ्यर्थी दारोगा बने। वहीं, 222 अभ्यर्थियों का बतौर सिपाही में चयन हुआ है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *