Tuesday , June 28 2022

कोरोना से मौत पर मुआवजा देने की आग्रह वाली जनहित याचिका खारिज

लखनऊ। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने कोरोना से लोगों के बचाव व मौत पर मुआवजा देने के आग्रह वाली जनहित याचिका को सुनवाई लायक न होने के आधार पर खारिज कर दिया। इस मामले पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई हुई थी। न्यायमूर्ति रमेश सिन्हा और न्यायमूर्ति राजीव सिंह की खंडपीठ इस मामले पर सुनवाई की थी। सुनवाई के बाद कहा था कि याची पाल सिंह यादव अगर चाहे तो अपनी व्यथा को स्वयं संज्ञान वाली पीआईएल में अर्जी देकर राहत मांग सकता है।

बता दें कि इस याचिका में कोरोना से हो रही अचानक मौतों से लोगों की हिफाजत करने व इसके लिए जिम्मेदारों के खिलाफ मुकदमा चलाने के निर्देश केंद्र व यूपी सरकार को देने की गुजारिश की थी। साथ ही अस्पताल, बेड व दवाइयां मरीजों को तुरंत मुहैया कराने का आग्रह किया था। साथ ही कोरोना से मरने वाले परिजनों को मुआवजा दिलाने की भी गुजारिश की थी।

इस पूरे मामले पर कोर्ट का कहना है कि इस मामले में स्वयं संज्ञान लेकर कायम एक अन्य पीआईएल पर 27 अप्रैल को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राज्य सरकार समेत अन्य पक्षकारों को विस्तृत आदेश व निर्देश जारी किए हैं। लिहाजा यह याचिका ग्राह्य नहीं है। इसके बाद कोर्ट ने इस याचिका सुनवाई लायक न होने के आधार पर खारिज कर दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five − 2 =