अखिलेश यादव की अपील: रात 9 बजे से 9 मिनट तक बेरोजगारी के खिलाफ जलाएं दीये

अखिलेश यादव की अपील: रात 9 बजे से 9 मिनट तक बेरोजगारी के खिलाफ जलाएं दीये

अखिलेश यादव की अपील: रात 9 बजे से 9 मिनट तक बेरोजगारी के खिलाफ जलाएं दीये

Spread the News

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार फिर प्रदेश की योगी सरकार पर तीखा हमला बोला है।
अखिलेश यादव ने ट्वीट कर युवाओं से अपील की है कि बुधवार (9सितंबर) को रात 9 बजे से 9 मिनट के लिए बेरोजगारी के ख़िलाफ़ दिए जलाएं ताकि आपकी आवाज सरकार के कानों तक पहुंच जाए। इस हमले का जवाब देते हुए भाजपा ने कहा है कि, वो (अखिलेश यादव) अपने कार्यकाल को याद करें जिसमें केवल जातिवाद और भ्रष्टाचार का ही बोलबाला था।

सपा का आरोप- रोजगार देने का वादा पूरा नही

अखिलेश सरकार में डेयरी एवं दुग्ध राज्य मंत्री रहे सुनील सिंह साजन का कहना है कि सीएम योगी ने नौजवानों से जून तक एक करोड़ रोजगार देने का वादा किया था लेकिन उसे पूरा नहीं किया। नौजवानों ने 5 बजे 5 मिनट ताली थाली बजाई, 8 बजे 8 मिनट तक दिए जलाए लेकिन कोई फायदा नही हुआ। अब सरकार को जगाने के लिए नौजवान आज 9 बजे 9 मिनट तक बेरोजगारी के खिलाफ दिए जलाएंगे।

सपा को मिला कांग्रेस का साथ

अखिलेश यादव द्वारा 9 सितंबर को रात 9 बजे से 9 मिनट के लिए बेरोजगारी के ख़िलाफ़ दिए जलाने की अपील का समर्थन करते हुए कहा कि, ” इस देश का युवा अपनी आवाज सुनाना चाहता है। अपनी रूकी हुई भर्तियों, परीक्षाओं की तिथियों, अपॉइंटमेंट एवं नई नौकरियों को लेकर युवा अपनी आवाज उठा रहा है।
आज हम सबको युवाओं की रोजगार की लड़ाई में उनका साथ देने की जरूरत है।”

भाजपा ने किया पलटवार

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता आलोक अवस्थी ने अखिलेश यादव के बयान पर बलात्वार करते हुए कहा कि, अखिलेश यादव ने अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल में परिवारवाद-जातिवाद से ऊपर उठकर नियुक्तियां की होती तो उन्हें आज ये बात नहीं कहनी पड़ती। उनके द्वारा जितने भी भर्ती बोर्ड बनाए गए थे सभी भ्रष्टाचार जातिवाद में लिप्त थे। उनके भर्ती बोर्ड को माननीय उच्च न्यायालय ने भंग किया था।

उन्होंने कहा कि उच्च सेवा का जो भर्ती बोर्ड बना था उसके चेयरमैन अनिल यादव पर हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई जांच चल रही है। पूर्व सीएम अखिलेश यादव को यह नहीं भूलना चाहिए पुलिस की दो लाख भर्तियां नहीं की थी। जिसके वजह से उनके समय मे क्राइम बहुत बढ़ रह था। आज सीएम योगी आदित्यनाथ जी ने पुलिस के कम से कम डेढ़ लाख लोगों की भर्तियां की है। सबका साथ सबका विकास के तहत भर्तियां कर रही है न कि पूर्व की सरकार की तरह जातिवाद क्षेत्रवाद देखकर।


Spread the News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *