अस्पताल में डॉक्टर पर भड़के अखिलेश यादव, डॉक्टर को कमरे से भगाया

हालही में कन्नौज में दिल को दहला देने वाली दुर्घटना सामने आयी थी। जिसे लेकर पूरे देश में शोक की लहर फ़ैल गयी। इसी कड़ी में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सोमवार को कन्नौज के छिबरामऊ में बस हादसे में घायल हुए यात्रियों का हालचाल लेने सौ शय्या अस्पताल पहुंचे।

बता दें कि अखिलेश यादव अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजनों से मुआवजा राशि देने की बात कर रहे थे, इसी दौरान इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर बीच में बोल पड़े। इससे अखिलेश यादव नाराज हो गए और किसी बात से नाराज होकर उन्होंने वरिष्ठ परामर्शदाता डॉ. डीएस मिश्रा को कमरे से भगा दिया।

अखिलेश यादव ने नाराज़ होते हुए आगे कहा कि तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते। तुम बहुत छोटे कर्मचारी हो। आरएसएस के हो सकते हो, बीजेपी के हो सकते हो, लेकिन ये बात नहीं कह सकते, कि वो क्या कह रहा है। इसके बाद अखिलेश ने कहा कि एक दम दूर हो जाइए।

इसके बाद पूर्व सीएम ने सीएमएस डॉ. कुलदीप यादव से चिकित्सक के पद व जिले के बारे में जानकारी ली। सीएमएस ने जैसे ही चिकित्सक का पद ईएमओ व निवासी गोरखपुर बताया, पूर्व सीएम के मुंह से निकल पड़ा तभी वो सरकार का पक्ष ले रहे हैं। पूर्व सीएम ने कहा, चिकित्सक को बीच में नहीं बोलना चाहिए था।

वहीं इस संबंध में चिकित्सक डॉ. डीएस मिश्रा का कहना है कि पूर्व सीएम ने उनके साथ अभद्रता की है। उन्हें भाजपा व आरएसएस का व्यक्ति बताकर कमरे से बाहर निकाल दिया। वह इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात थे।