Wednesday , January 19 2022

शिक्षा और रोजगार को लेकर हरियाणा सरकार के दो बड़े फैसले, आप भी जानें

Haryana. हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत अब 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों के लिए बिना कोरोना रोधी टीका लगवाए स्कूलों में प्रवेश पर प्रबंद रहेगा। हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि जब भी स्कूल दौबारा खुलेंगे तब उन्हीं बच्चों को स्कूल में प्रवेश की अनुमति होगी, जिन्होंने वैक्सीन लगवाई होगी। उन्होंने अभिभावकों से आग्रह किया है कि सभी अपने बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगवाएं और कोरोना से बचाव को सुनिश्चित करें।

बता दें कि राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर 26 जनवरी तक सभी स्कूल और कॉलेज बंद हैं। जिसका ऐलान शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने किया था। हालांकि, छुट्टियों के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई जारी है। शिक्षा मंत्री ने कहा था कि बच्चों को फिलहाल स्कूल बुलाकर कोई जोखिम नहीं उठा सकते। मार्च महीने में परीक्षाएं होनी हैं। इस बार आठवीं की बोर्ड परीक्षा होगी, उसे देखते हुए शिक्षक पूरी तन्मयता के साथ ऑनलाइन पढ़ाई करवाएं और बच्चों का मूल्यांकन भी करें। कोरोना के मामले और बढ़ने पर छुट्टियां आगे बढ़ाई जा सकती हैं।

निजी क्षेत्र की नौकरियों में हरियाणा के युवाओं को 75 फीसदी आरक्षण

इसी के साथ ही हरियाणा द्वार एक और बड़ा फैसला लिया गया है। जिसके तहत हरियाणा के युवाओं को 15 जनवरी से 30 हजार रुपये तक की निजी नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण मिलना शुरू हो जाएगा। दरअसल, सरकार ने हरियाणा राज्य स्थानीय व्यक्ति रोजगार अधिनियम, 2020 लागू करने के लिए अधिसूचना 2021 में ही जारी कर दी थी। जो शनिवार से पूरे प्रदेश में प्रभावी हो जाएगी। इसके बाद निजी कंपनियों, ट्रस्ट व सोसायटी इत्यादि में प्रदेश के युवाओं को मिले रोजगार से जुड़े आंकड़े हरियाणा श्रम विभाग की वेबसाइट पर मौजूद रहेंगे। वेबसाइट पर जाकर कोई भी उन्हें देख सकता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 3 =