नई दिल्ली । भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के अध्यक्ष टीवी नरेंद्रन (T.V. Narendran) ने बुधवार को कहा कि उद्योगों को प्रोत्साहनों और सब्सिडी से हटकर सोचना चाहिए और प्रतिस्पर्धा और उत्पादन बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए। नरेंद्रन ने ‘बीइंग फ्यूचर रेडी बिजनेस समिट-2022’ में कहा कि एक जिम्मेदार और जागरूक उद्योग को देश में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए अपनी प्राथमिकताओं से परे सोचना चाहिए।

उन्होंने कहा कि वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं का फिर से आकलन उद्योग के लिए अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में खुद को और अधिक मजबूती से पेश करने के साथ वैश्विक स्तर पर कारोबार का विस्तार करने का अवसर भी देता है।

जोखिम ना उठाने की मानसिकता से हटकर सोचें

सीआइआइ के अध्यक्ष ने कहा, ‘हमें जोखिम नहीं उठाने की मानसिकता से हटकर सोचना चाहिए और सभी बाजारों और क्षेत्रों में कारोबार की संभावना तलाशनी चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘प्रमुख बाजार भागीदारों के साथ कई नए मुक्त व्यापार समझौतों पर हस्ताक्षर किए जा रहे हैं जो हमारे लिए अंतरराष्ट्रीय व्यापार के अपार अवसर खोलेंगे।
प्रोफेशनल्स, नवाचार, गुणवत्ता और टिकाऊ निर्माण पर करें ध्यान केंद्रित

उन्होंने उद्योग से प्रोफेशनल्स, नवाचार, गुणवत्ता और टिकाऊ निर्माण पर ध्यान केंद्रित करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा, ‘अगर उद्योगों को भविष्य के लिए अपने को उपयोग बनाए रखना है तो उन्हें आरएंडडी (R&D) पर अपना खर्च बढ़ाना होगा। भारत में कुल आरएंडडी खर्च में भारतीय उद्योग का हिस्सा 37 प्रतिशत है, जबकि दक्षिण कोरिया में 80 प्रतिशत और चीन में 77 प्रतिशत है।’

बता दें कि वर्तमान में टीवी नरेंद्रन टाटा स्टील लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक हैं। टीवी नरेंद्रन ने 2021-22 के लिए भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाला है। नरेंद्रन, भारतीय प्रबंधन संस्थान, कलकत्ता के पूर्व छात्र, कई सालों से सीआइआइ से जुड़े हुए हैं।