Tuesday , June 21 2022

सरकार फेरो स्क्रेप निगम लिमिटेड को बेचने की कर रही है तैयारी

सरकार फेरो स्क्रेप निगम लिमिटेड (FSNL) को बेचने की तैयारी कर रही है। इसके लिए कई निवेशकों ने दिलचस्पी दिखाई है। यह जानकारी निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव ने दी है। DIPAM ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा कि स्टील मंत्रालय को एमएसटीसी लिमिटेड ( MSTC Ltd) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड (FSNL) के स्ट्रैटेजिक विनिवेश के लिए कई अभिव्यक्तियां (EOI) मिली हैं।

बोलियां जमा करने की अंतिम तारीख 6 जून थी
बता दें कि FSNL के निजीकरण के लिए बोलियां जमा करने की अंतिम तारीख 6 जून थी। पहले यह तारीख 5 मई 2022 थी। बाद में सरकार ने बोलियां जमा करने की तारीख को बढ़ाई थी। बता दें कि सरकार ने FY2023 के लिए 65,000 करोड़ रुपये का विनिवेश टारगेट तय किया है।

सरकार बेचेगी पूरी हिस्सेदारी
सरकार ने स्ट्रैटेजिक बिक्री में एमएसटीसी लिमिटेड के माध्यम से एफएसएनएल में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेच रही है। बता दें कि एफएसएनएल एक मिनी रत्न कंपनी है। यह मुनाफे वाली कंपनी है। आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने अक्टूबर 2016 में रणनीतिक विनिवेश और प्रबंधन नियंत्रण के हस्तांतरण के माध्यम से एफएसएनएल में एमएसटीसी के माध्यम से आयोजित संपूर्ण इक्विटी शेयरधारिता के विनिवेश को ‘सैद्धांतिक’ मंजूरी दे दी थी।

कंपनी का कारोबार क्या है?
यह भारत में मेटल स्क्रैप रिकवरी और स्लैग हैंडलिंग की बड़ी कंपनी है। इसके भारत में 9 स्टील प्लांट हैं। कंपनी अलग-अलग स्टील प्लांट में लोहे और स्टील बनाने के दौरान पैदा स्लैग और कचरे से स्क्रैप की वसूली और प्रोसेसिंग में माहिर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five × four =