वाहनों के सैलाब से नैनीताल की ट्रैफिक व्यवस्था हो गई ध्वस्त

नैनीताल: सरोवर नगरी में संडे छुट्टी व मैदानी इलाकों में तपती गर्मी से बेहाल पयर्टकों ने नैनीताल सहित पहाड़ी जिलों का रुख किया। वाहनों के सैलाब से नैनीताल की ट्रैफिक व्यवस्था ध्वस्त हो गई। वाहनों को डायवर्ट किया गया फिर भी जाम लगे रहे। वाहनों का दबाव बढ़ने पर पुलिस को कालाढूंगी और काठगोदाम से पर्यटक वाहनों को अन्यत्र डायवर्ट करना पड़ा। पार्किंग वाले होटलों की एडवांस बुकिंग करने वाले पर्यटक वाहनों को ही नैनीताल के लिए प्रवेश मिल पाया।
ग्रीष्मकालीन सीजन में यह दौर पिछले दस दिन से पूरे चरम पर है। शहर के होटल पैक हैं। पार्किंग भी फुल है। रविवार को बाजारों में भारी भीड़ रही, जबकि पर्यटन स्थलों में पूरे दिन सैलानी भारी संख्या में पहुंचे। पंत पार्क में पूरे दिन सैलानियों की भीड़ रही
नौकाविहार करने वालों की देर शाम तक भारी भीड़ झील किनारे नजर आई। स्नो व्यू, केव गार्डन, चिड़ियाघर, हिमालय दर्शन में भी भारी संख्या में सैलानी पहुँचे। कारोबार उठता देख पर्यटन कारोबारी भी बेहद उत्साहित है
जाम ने बिगाड़ी व्यवस्था, करना पड़ा डायवर्ट

रविवार को सुबह से ही शहर में पर्यटक वाहनों का दबाव बढ़ने लगा। रूसी बाईपास क्षेत्र में भी करीब दो हजार वाहन पार्क किये जाने के बाद भी वाहनों का रेला नहीं थमा। शहर के भीतर जाम बढ़ा तो पुलिस को कालाढूंगी और काठगोदाम क्षेत्र से वाहनों को अन्यत्र डायवर्ट करना पड़ा। जिस कारण दोपहर बाद शहर के भीतर स्थिति कंट्रोल में आई।रूसी क्षेत्र में भी पर्यटक वाहनों को रोककर शटल सेवा से भीतर भेजने का सिलसिला शाम तक चलता रहा।
इधर भवाली, भीमताल, मुक्तेश्वर व रामगढ़ की सड़कें भी जाम से जूझती रही। जिस कारण सैलानियों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ा।

एंट्री प्वाइंटों पर दिखा सुविधाओ का टोटा

शहर में पर्यटक वाहनों का दबाव बढ़ने के बाद वाहनों को एंट्री प्वाइंटों पर रोक तो दिया गया, मगर मूलभूत सुविधाओं के अभाव में ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों और पर्यटको को परेशानी उठानी पड़ी। कालाढूंगी रोड की ओर से आने वाले पर्यटको और तैनात पुलिसकर्मियों के लिए रूसी एक मे न तो पानी और शौचालय की व्यवस्था थी और न ही पर्यटको के लिए प्रतीक्षालय जिस कारण पर्यटको को कड़ी धूप में शटल सेवा का इंतजार करना पड़ा।

वहीं हल्द्वानी रोड की ओर से रूसी-दो में शौचालय और कैंटीन उपलब्ध थी। मगर पानी की पर्याप्त व्यवस्था नहीं होने के कारण पर्यटक परेशान दिखे। वहीं यात्री प्रतीक्षालय में बाइके पार्क होने के कारण पर्यटक धूप में इंतजार करते दिखे।

15 जून को लेकर बढ़ेगा फोर्स

15 जून तक कैंची धाम ही नहीं नैनीताल और समीपवर्ती पर्यटन स्थलों में सीजन बंपर रहने की उम्मीद है। ऐसे में व्यवस्थाओ को बनाये रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 − two =