Wednesday , June 22 2022

वाराणसी की फल मंडी में पश्चिम बंगाल की आखिरकार लीची ने दे दी दस्‍तक

वाराणसी:- शहर ही पहड़‍िया फल मंडी में पश्चिम बंगाल से लीची की आवक शुरू हो चुकी है। मंगलवार को बंगाली लीची ने मंडी में दस्‍तक दे दी। बंगाल से आने वाली इस लीची की कीमत फ‍िलहाल 180 से 200 रुपये के बीच होने से अभी जायका हर किसी के वश में नहीं है। बाजार में लीची की आमद के साथ ही जायके के लिए लोगों का मन भी खूब मचल रहा है लेकिन बाजार का भाव लोगों की जेबों को अनुमति नहीं दे रहा है। हालांकि, कुछ जायकों के मुरीद लोग बाजार में लीची की दस्‍तक के साथ ही उसे खरीद भी रहे हैं।
कारोबारियों व आढ़तियों के अनुसार बंगाल की लीची मंडी में सबसे पहले दस्‍तक दी है। पश्चिम बंगाल के बागों से लीची की दस्‍तक के बीच अब मुजफ्फरपुर की लीची की प्रतीक्षा भी कारोबारी और आढ़ती कर रहे हैं। पहड़िया मंडी में मंगलवार को बंगाल की लीची ने अपनी आमद दर्ज कराई तो मंडी में खूब मोलभाव भी हुआ। लेकिन, कीमतों ने लोगों के दांत भी खट्टे किए। त्‍योहारी मौका होने की वजह से कुछ खरीदारों ने कीमतों की परवाह न करते हुए लीची को खरीदा और टेस्‍ट भी किया। अभी लीची में मिठास के साथ ही खट्टा स्‍वाद भी बरकरार है। माना जा रहा है कि सप्‍ताह भर के बाद लीची का रंग भी हरे से लाल होगा और मिठास भी भरपूर होगी।
लीची का प्रवेश बनारस की पहड़िया मंडी में होने के बाद से ही मोलभाव के बीच लोग जायकों पर चर्चा कर रहे हैं। अभी बाजार में लीची का फुटकर रेट 180 रुपया से 200 रुपया किलो तक है। जो आम आदमी की पहुंच से फ‍िलहाल दूर ही है। मंडी में लीची की आवक छोटे छोटे व्यापारियों द्वारा डिमांड पर ही अभी निर्भर है। आढ़तियों के अनुसार अभी इसकी आवक डिमांड के आधार पर ही हो रही है। लीची का फुटकर रेट 180 रुपया से लेकर 200 रुपया किलो तक होने की वजह से बिक्री कम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twelve + 17 =