Tuesday , June 21 2022

लालू प्रसाद यादव पर बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का हमला जारी

पटना : राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का हमला जारी है। नौकरी के बदले जमीन मामले में फंसे लालू पर सुशील मोदी ने पांच सवाल पूछने के बाद नया बयान दिया है। राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने रविवार को जारी बयान में कहा है कि सीबीआइ लालू प्रसाद के खिलाफ शिवानंद तिवारी, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और शरद यादव के ज्ञापन पर ही कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा है कि तीनों ने लालू के खिलाफ 22 अगस्त 2008 को तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को सीबीआइ जांच के लिए जो ज्ञापन दिया था, उसी पर सीबीआइ ने कार्रवाई की है। लालू भूल गए थे कि कानून के हाथ लंबे होते हैं और अपराध कभी मरता नहीं है। सुशील मोदी ने कहा है कि एफआइआर में अभियुक्त पिंटू कुमार जिसे ‘जमीन के बदले नौकरी’ घोटाले में पश्चिमी रेलवे नौकरी मिली थी। पिंटू के पिता विष्णु देव राय और उसके भाई ब्रजनंदन राय ने सिवान के ललन चौधरी और गोपालगंज के हृदयानंद चौधरी को पटना की कीमती जमीन रजिस्ट्री कर दी।
गौरतलब है कि नौकरी के बदले जमीन मामले में सीबीआइ की छापेमारी के बाद लालू परिवार और उनकी पार्टी राजद से सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को पांच सवाल पूछे थे। उन्होंने कहा था कि क्या यह सही नहीं कि कांति सिंह ने पटना का अपना करोड़ों का मकान और रघुनाथ झा ने गोपालगंज का अपना कीमती मकान केंद्रीय मंत्री बनवाने के बदले लालू परिवार को गिफ्ट किया था? अगर लालू प्रसाद ने रेलवे में नौकरी देने के बदले लाभार्थी से जमीन नहीं लिखवाई थी तो शिवानंद तिवारी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को ज्ञापन देकर सीबीआइ जांच की मांग क्यों की थी? मोदी ने पूछा था कि लालू बताएं कि उनका परिवार 30 से ज्यादा फ्लैट, 141 भूखंड और पटना में आधा दर्जन से ज्यादा मकानों का मालिक कैसे बना? पूछा था कि लालू ने पटना हवाई अड्डा के पास स्थित टिस्को के गेस्ट हाउस का स्वामित्व कैसे हासिल कर लिया?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eighteen − 8 =