बिना दुल्हन के लौटी बारात,जाने-वजह…

मुरादाबाद जिले के बिलारी नगर के बैंक्वेट हॉल में चल रही शादी समारोह में बागपत से आई बारात के बाद में दूल्हे की जाति का पता चला तो दुल्हन पक्ष ने शादी से इनकार कर दिया। दूल्हे पक्ष पर आरोप लगाया कि गुमराह करके जाति बताई गई। इसके बाद रिश्ता तय हुआ। जयमाला की रस्म पूरी हो चुकी थी। फेरे पड़ने बाकी रह गए थे। हंगामे के बीच दूल्हा बिना दुल्हन के लौट गया। मामला पुलिस तक पहुंचा तो सुबह दोनों पक्षों के बीच लेनदेन का फैसला हो गया।
बिलारी के मोहल्ला कोरियान होली चौक में युवती की शादी जिला बागपत के एक गांव के ड्राइवर से तय हुई थी। युवती का परिवार कोरी समाज से था। बारात में 35 लोग आए थे। बारातियों की आवभगत की गई। इसके बाद जयमाला की रस्म पूरी तरह से निपट गई। किसी को भी दूल्हे की जाति का पता नहीं लग सका। इसी बीच बाराती और घरातियों के बीच बातचीत हुई। इसके बाद बारातियों ने बताया कि वह जाटव बिरादरी से हैं। यह बात जब दुल्हन पक्ष तक पहुंची तो हंगामा खड़ा हो गया।

इस बीच दूल्हे से जब उसकी जाति को पूछा तो उसने अपनी जाति बताई। इस पर दुल्हन पक्ष के लोगों ने शादी करने से इनकार कर दिया। दो जातियों के बीच विवाद जैसी स्थिति पैदा हो गई। दूल्हे पक्ष के कई लोगों को बंधक भी बना लिया। उनका कहना था शादी में अब तक जितनी भी रकम का खर्चा हुआ है वह दूल्हा पक्ष दें। मामला पुलिस तक पहुंचा। पुलिस दोनों पक्षों को कोतवाली ले आई। जहां दोनों पक्षों के बीच दोपहर तक वार्ता चलती रही। वार्ता के बाद दूल्हा पक्ष ने दुल्हन पक्ष को कुछ रकम देकर मामले को निपटाया। पूरा मामला चर्चा का विषय बना रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

12 − 3 =