Wednesday , June 22 2022

फिनिशर में दिनेश कार्तिक का कोई सानी नहीं !

नयी दिल्ली। क्रिकेट का महाकुंभ आईपीएल सिर्फ क्रिकेटप्रेमियों के मनोरंजन का साधन नहीं है बल्कि खिलाड़ियों के भविष्य की राह तय करने का एक जरिया भी है। ऐसे में चयनकर्ताओं की नजर भी खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर होती है और कई मौकों पर देखा भी जा चुका है कि आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने की वजह से खिलाड़ियों की पीठ थपथपाई गई है और फिर उन खिलाड़ियों को टीम इंडिया की जर्सी मिली है। ऐसे में आज की खबर किसी और पर नहीं बल्कि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक पर आधारित है, जिन्होंने कई मुकाबलों में फिनिशर की भूमिका अदा करके टीम को मुश्किल परिस्थितियों से उबारने का काम किया है।

आईपीएल समाप्त होने के बाद भारतीय खिलाड़ी लगातार एक के बाद एक सीरीज खेलने वाले हैं। लेकिन चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन की नजरें महज टी20 विश्व कप पर टिकी हुई हैं क्योंकि भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया में हो रहे इस विश्व कप को जीतने की प्रबल दावेदार मानी जा रही है। खैर वो अलग बात है कि टीम के कई वरिष्ठ खिलाड़ी फॉर्म में नजर नहीं आ रहे हैं परंतु जब यह खिलाड़ी नीली जर्सी पहनते हैं तो खुद-ब-खुद उनका तूती बोलने लगती है।

दिनेश कार्तिक पर टिकी है सभी की निगाहें

आईपीएल के मौजूदा सत्र में सभी की निगाहें दिनेश कार्तिक पर टिकी हुई हैं। उन्होंने 12 पारियों में 200 के स्ट्राइक रेट से 274 रन बनाए हैं और वो शानदार फॉर्म में भी नजर आ रहे हैं। इस दौरान उनका औसत 68.50 का रहा। जिसके बाद अब भारतीय टीम में ऋषभ पंत की जगह पर खतरा मंडराने लगा है और लगातार सोशल मीडिया पर मांग उठ रही है कि दिनेश कार्तिक को टी20 विश्व कप टीम में शामिल किया जाए और वो भी वापस नीली जर्सी में खेलना चाहते हैं। उनके समर्थन में कई पूर्व खिलाड़ियों ने भी बयान दिए हैं।

मौजूदा सत्र में दिनेश कार्तिक की सबसे शानदार बात तो यह रही कि उन्होंने डेथ ओवरों में अच्छे से अच्छे गेंदबाजों को खूब धोया है और उन्हें छठी का दूध याद दिलाया है। जिसको लेकर उनके टी20 विश्व कप खेलने की उम्मीद जताई जा रही है। हालांकि चयनकर्ता क्या फैसला करते हैं यह देखना दिलचस्प होगा।

पूर्व भारतीय मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद को लगता है कि दिनेश कार्तिक और राहुल तेवतिया दोनों को 9 जून से साउथ अफ्रीका के खिलाफ शुरू होने वाली सीरीज में जरूर आजमाया जाना चाहिए जबकि हार्दिक पांड्या को भी वापसी कराने की बात की। उन्होंने कहा कि हार्दिक, जड्डू (जडेजा), कार्तिक और तेवतिया फिनिशर की भूमिका में मेरे चार खिलाड़ी होंगे।

पंत का नहीं चल रहा जादू

एक तरफ दिनेश कार्तिक का बल्ला आग उगल रहा है तो दूसरी तरफ ऋषभ पंत का बल्ला खामोश है और अभी तक उन्होंने कोई खास प्रदर्शन करके नहीं दिखाया है और न ही कप्तानी पारी खेली है। टॉप ऑर्डर में खेलने के बावजूद उन्होंने किसी भी मुकाबले को फिनिश नहीं किया है और तो और इस सीजन में उनका नाता विवादों से भी रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

20 − 18 =