Tuesday , June 28 2022

पीएम नरेन्द्र मोदी 73 बच्चों से करेंगे बात

पटना। कोरोना के कारण अपने मां-बाप खो चुके बच्चे किस हाल में हैं? प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसकी जानकारी इन बच्चों से बात कर स्वयं लेंगे। उनका कुशल-क्षेम पूछेंगे और उनसे उनकी पढ़ाई-लिखाई पर भी बात करेंगे। समाज कल्याण विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इन बच्चों की प्रधानमंत्री से बातचीत की तारीख तो अभी नहीं मिली है पर संभावना यह है कि प्रधानमंत्री इसी महीने ऐसे बच्चों से वह बात कर सकते हैं।

जिलाधिकारियों को तैयारी का निर्देश

कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों के साथ प्रधानमंत्री की बातचीत के लिए सभी जिलाधिकारियों को तैयारी का निर्देश दिया गया है। जिन जिलों के बच्चे हैं उन्हें प्रधानमंत्री से बातचीत के लिए तय तारीख के दिन समाहरणालय परिसर लाया जाएगा। संबंधित जिले के डीएम की मौजूदगी में बातचीत होगी।

– सभी जिलों को समाज कल्याण विभाग ने तैयारी का दिया निर्देश
– बिहार में ऐसे बच्चों की संख्या 73, जिलों के डीएम भी रहेंगे मौजूद
राज्य सरकार प्रति माह पंद्रह सौ रुपये दे रही

कोरोना काल में अपने मां-बाप के खोने वाले बच्चों की संख्या बिहार में 73 है। राज्य सरकार अपनी ओर से प्रति महीने पंद्रह सौ रुपये की राशि दी जा रही है। पिछले वर्ष मई में राज्य सरकार ने इसके लिए बाल सहायता योजना को आरंभ किया था। वहीं केंद्र सरकार ने भी पिछले वर्ष मई में कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिए योजना शुरू की थी। पीएम केयर्स फंड से संचालित होने वाली योजना के क्रियान्वयन के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय को नोडल महकमा बनाया गया है।

बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य पर ध्यान दिया जाना है

पीएम केयर्स फंड से संचालित होने वाली योजना के माध्यम से बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य पर ध्यान दिया जाना है। इसके अतिरिक्त दस लाख रुपये का एक कार्पस फंड भी बनाया जाना है, जिसके तहत अठारह वर्ष पूरा होने पर ऐसे बच्चों को 23 वर्ष की उम्र तक मासिक वित्तीय सहायता उपलब्ध करायी जानी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eighteen + 14 =