दिल्ली : बिजली वितरण कंपनियों ने ली राहत की सांस

नई दिल्ली:-  मौसम ने कुछ राहत दी तो इसका असर बिजली की खपत पर दिखने लगा। पिछले दिनों की तुलना में मंगलवार को अधिकतम मांग में कमी रही। पिछले कई दिनों से अपराह्न तीन बजे के करीब मांग 62 सौ मेगावाट के करीब रह रही थी। सोमवार अपराह्न साढ़े तीन बजे के करीब अधिकतम मांग 6194 मेगावाट पहुंच गई थी। इसके विपरीत मंगलवार अपराह्न में मांग में 61 सौ मेगावाट के आसपास रही।

सुबह के समय भी बिजली की खपत कम रही। पिछले दिनों सुबह मांग चार हजार मेगावाट के ऊपर दर्ज हो रही थी। वहीं, मंगलवार सुबह मांग चार हजार मेगावाट से नीचे आ गई। शाम के समय पांच हजार मेगावाट के आसपास दिल्ली में बिजली की खपत रही। बिजली की खपत नीचे आने से बिजली वितरण कंपनियों ने राहत की सांस ली है, क्योंकि बिजली संयंत्रों में कोयले की कमी के बीच जिस तरह से मांग बढ़ रही थी उससे निर्बाध बिजली आपूर्ति को लेकर चिंता बढ़ने लगी थी।
बिजली अधिकारियों का कहना है कि सोमवार रात को अधिकतम मांग 6247 मेगावाट दर्ज की गई थी। यह मई के पहले सप्ताह में अबतक सबसे अधिक है, लेकिन उसके बाद इसमें गिरवाट आने लगी। रात 12 बजे के बाद यह कम होकर 6140 मेगावाट रह गई थी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

19 − twelve =