Wednesday , June 29 2022

दारोगा की दबंगई देखने को मिली,किराया मांगने पर बस के परिचालक को पीटा

गाजियाबाद, मुरादनगर में अंडर रोडवेज की बस के परिचालक को दारोगा के बेटे से पूरा किराया मांगना महंगा पड़ गया। बेटे ने फोन कर अपने पिता को बुला लिया। दोनों बाप-बेटे ने परिचालक को पहले बस के अंदर पीटा। इसके बाद उसका अपहरण कर कार में बैठा लिया।

मुरादनगर पुलिस के दखल पर किसी तरह परिचालक को छोड़ा गया। मामले में दबाव बनाकर पुलिस ने समझौता कराकर रफा दफा कर दिया। कौशांबी से यूपी अंडर रोडवेज की बस रविवार दोपहर को 50 से ज्यादा सवारी लेकर मेरठ जा रही थी। बस को वेदप्रकाश शर्मा चला रहे थे। जबकि, संतोष परिचालक का काम कर रहे थे।
वेदप्रकाश ने बताया कि एक युवक गाजियाबाद मेरठ रोड से बस में बैठ गया। उसने मोदीनगर जाने की बात कही। इसलिए उससे 32 रुपये किराया मांगा गया, लेकिन वह 20 रुपये देने लगा। पूरा किराया मांगने पर आरोपित भड़क गया और खुद को दारोगा का बेटा बताते हुए अंजाम भुगतने की धमकी दे दी।

परिचालक ने नियम कानून की बात कही तो वह और ज्यादा उग्र हो गया। आरोप है कि उसने फोन कर अपने पिता को बुला लिया। पिता गंगनहर के पास मिले और अपनी कार बस के आगे लगा दी। बस रूकने पर पिता पुत्र बस में अंदर चढे और परिचालक को बुरी तरह पीटा।
आरोपितों ने परिचालक का पूरा सामान इधर उधर फेंक दिया और परिचालक को जबरन अपनी कार में बैठा लिया। इसके बाद चालक वेदप्रकाश बस को सवारी सहित थाने लेकर पहुंच गए। उन्होंने वहां अपनी शिकायत बताई। पुलिस ने किसी तरह संपर्क साधकर दारोगा को थाने बुला लिया।

दोनों पिता पुत्र परिचालक को लेकर थाने पहुंच गए। परिचालक ने थाने में शिकायत देकर दारोगा के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। काफी देर की जद्दोजहद के बाद पुलिस ने चालक परिचालक पर समझौते का दबाव बनाकर मामले को रफा दफा करवा दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × two =