Saturday , June 25 2022

जानें,-त्वचा को कैसे प्रभावित करता है कोविड-19

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी का तीसरा साल चल रहा है। ऐसे में यह हम सभी जान गए हैं, कि SARs-CoV-2 वायरस सिर्फ श्वसन तंत्र ही नहीं, बल्कि पूरी सेहत को प्रभावित करता है। श्वसन से जुड़े लक्षणों के अलावा, यह शरीर के दूसरे हिस्सों पर भी असर करता है, जिसमें हमारे शरीर का सबसे बड़ा हिस्सा भी शामिल है, यानी त्वचा। इसलिए जब सर्दी-ज़ुकाम हो जाए, तो यह पता लगाना बेहद ज़रूरी हो जाता है, कि यह आम ज़ुकाम है, या फिर फ्लू या कोविड-19। सर्दी-खांसी के साथ अगर त्वचा पर चकत्ते या इंफेक्शन भी है, तो सतर्क हो जाएं।
त्वचा को कैसे प्रभावित करता है कोविड-19?

ज़्यादातर बीमारियों से बिल्कुल अलग, कोरोना वायरस किस तरह शरीर पर अटैक करेगा यह कोई नहीं बता सकता। बुखार, गले में ख़राश, कमज़ोरी या फिर नाक बहना कोविड-19 संक्रमण के आम लक्षण हैं, लेकिन त्वचा पर चकत्ते होने पर चिंता करना सही है। हालांकि, पहले और अब भी वैज्ञानिकों और त्वचा विशेषज्ञों का मानना है कि कोविड-19 संक्रमण त्वचा को भी प्रभावित कर सकता है, जिसकी वजह से अलग-अलग तरह की स्किन से जुड़ी दिक्कतें हो सकती हैं।

क्या है कोविड डिजिट्स?

कोविड डिजिट, त्वचा से जुड़ी एक आम स्थिति है, जो कोविड से संक्रमित कुछ लोगों में देखी जाती है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (NHS) COVID Digits को “उंगलियों और पैर की उंगलियों की सूजन के रूप में परिभाषित करता है, जो हल्की त्वचा वाले लोगों में बैंगनी रंग की हो सकती है या गहरे रंग की त्वचा वाले लोगों में थोड़ा गहरा / भूरा / काला हो सकता है”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seven + 13 =