Tuesday , June 21 2022

कोई अनुमान नहीं लगा सकता कि युद्ध कब तक चलेगा

कीव। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा कि यूक्रेन के लोग रूसियों को देश से बाहर निकालने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं, लेकिन ‘‘आज कोई यह अनुमान नहीं लगा सकता कि यह युद्ध कब तक चलेगा।’’ जेलेंस्की ने राष्ट्र के नाम अपने रात्रि वीडियो संबोधन में कहा, ‘‘यह दुर्भाग्य से न केवल हमारे लोगों पर निर्भर करेगा, जो पहले से ही अपना अधिकतम दे रहे हैं, बल्कि यह हमारे भागीदारों पर, यूरोपीय देशों पर, पूरी स्वतंत्र दुनिया पर निर्भर करेगा।’’ उन्होंने कहा कि वह उन सभी के आभारी हैं जो रूस पर प्रतिबंधों को मजबूत करने और यूक्रेन को दी जा रही सैन्य एवं वित्तीय सहायता बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं।

यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘यह रूसी आक्रमण के सामने स्वतंत्रता की रक्षा के लिए एकमात्र उपाय है। पश्चिमी देशों के लिए यह केवल एक खर्च या खर्च के हिसाब के बारे में नहीं है, यह भविष्य के बारे में है।’’ जेलेंस्की ने कहा कि यूक्रेन ने शुक्रवार को युद्ध के दौरान 200 वें रूसी विमान को मार गिराया और उन्होंने टैंकों, बख्तरबंद वाहनों, हेलीकॉप्टरों और ड्रोन के लिहाज से रूस को भारी नुकसान पहुंचाया है। जेलेंस्की ने कहा, ‘‘और किसलिए? ताकि लेनिन की मूर्ति अस्थायी रूप से कब्जे वाले जेनिचेस्क में कुछ देर तक और खड़ी रह सके? रूस के लिए और कोई परिणाम नहीं हो सकता है।’’ अप्रैल में रूसी सेना ने दक्षिणी खेरसॉन क्षेत्र के एक शहर जेनिचेस्क में लेनिन की प्रतिमा को फिर से स्थापित किया था।

जेलेंस्की ने कहा कि मारियुपोल इस्पात संयंत्र में फंसे घायल लड़ाकों को निकालने की कोशिश के लिए यूक्रेन ‘‘बहुत मुश्किल बातचीत’’ में जुटा हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘हम बड़ी संख्या में लोगों को निकालने के बारे में बात कर रहे हैं। बेशक, हम सभी अपने हर रक्षक को निकालने के लिए सब कुछ कर रहे हैं। हम पहले ही दुनिया के हर उस शख्स को शामिल कर चुके हैं, जो सबसे प्रभावशाली मध्यस्थ हो सकते हैं।’’ जेलेंस्की ने कहा कि यूक्रेन की सेना ने रूसी सैनिकों के कब्जे से कस्बों और गांवों को फिर से अपने अधिकार में ले लिया है। उन्होंने कहा कि बिजली, पेयजल की आपूर्ति, टेलीफोन संचार और सामाजिक सेवाओं को बहाल करने के लिए काम जारी है।

—- रूस यूक्रेन युद्ध में महत्वपूर्ण घटनाक्रम —उम्मीद, भय के बीच यूक्रेन युद्ध के शरणार्थियों की संख्या 60 लाख के पार पहुंची। —यूक्रेन युद्ध-अपराध के मामले में पहली बार रूसी सैनिक पर मुकदमा। —यूक्रेन के अग्रिम मोर्चा पर दिव्यांगों के निकासी की सुविधा पर विचार। —फिनलैंड के नेता नाटो की सदस्यता के लिए आवेदन करने के पक्ष में। अन्य घटनाक्रम कीव — यूक्रेन की महाअभियोजक ने शुक्रवार को कहा कि उनका कार्यालय रूसी सैनिकों के खिलाफ युद्ध अपराध के 41 मामलों के लिए तैयारी कर रहा है। इरीना वेनेदिक्तोवा ने शुक्रवार शाम यूक्रेन के टीवी पर एक लाइव संवादददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हमारे पास ऐसे मामलों में 41 संदिग्ध हैं, जिनके आधार पर हम अदालत जाने को तैयार हैं। ये सभी युद्ध विभिन्न प्रकार के युद्ध अपराधों जैसे कि नागरिक बुनियादी ढांचे पर बमबारी, नागरिकों की हत्या, बलात्कार और लूटपाट पर आधारित (यूक्रेन के) आपराधिक संहिता के अनुच्छेद 438 से संबंधित हैं।’’ यह तुरंत स्पष्ट नहीं हुआ कि कितने संदिग्धों पर अनुपस्थिति में मुकदमा चलाया जाएगा।

शुक्रवार को कीव में रूसी सेना के एक सदस्य को पहले युद्ध अपराध अभियोजन के लिए चिह्नित किया गया। युद्ध के शुरुआती दिनों में एक निहत्थे यूक्रेनी नागरिक की हत्या के आरोप में 21 वर्षीय रूसी सैनिक पर मुकदमा चलाया गया। वेनेदिक्तोवा ने कहा कि यूक्रेन में मौजूद दो और संदिग्धों पर अगले सप्ताह प्रारंभिक सुनवाई होने की संभावना है। — अजोव रेजिमेंट के डिप्टी कमांडर स्वियातोस्लाव पालमार ने कीव सुरक्षा फोरम के एक ऑनलाइन सत्र के दौरान कहा कि रूसी सेना ने अजोवस्तल इस्पात संयंत्र पर हमला करना जारी रखा है, जो मारियुपोल में यूक्रेनी प्रतिरोध का अंतिम गढ़ है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने विरोध करना जारी रखा है और बचाव के लिए अपने वरिष्ठ नेताओं के आदेश का पालन कर रहे हैं। हम रक्षा कर रहे हैं और इतना सब कुछ होने के बावजूद लड़ना जारी रख रहे हैं।’’ इस पैनल में अमेरिकी जनरल फिलिप एम. ब्रीडलव और वेस्ली के. क्लार्क भी शामिल थे। इस बीच, यूक्रेन के हमले में रूसी सेना को भारी नुकसान हुआ।

यूक्रेन की सेना ने उस पंटून पुल को ध्वस्त कर दिया, जिसका उपयोग रूसी सैनिक पूर्व में एक नदी पार करने की कोशिश करने के लिए कर रहे थे। यूक्रेन के एयरबोर्न कमांड ने बिलोहोरिवका में सिवर्स्की दोनेत्स्क नदी पर एक क्षतिग्रस्त रूसी पंटून पुल की तस्वीरें और वीडियो जारी किए और पास के कई रूसी सैन्य वाहनों को नष्ट या क्षतिग्रस्त कर दिया। उन्होंने कहा कि यूक्रेन ने इस दौरान कम से कम 73 टैंक और अन्य सैन्य उपकरण नष्ट कर दिए। कमांड ने कहा कि उनके सैनिकों ने ‘‘रूसी कब्जाधारियों को नदी में डुबो दिया।’’ — संयुक्त राष्ट्र— अमेरिका ने एक बार फिर रूस पर अपने पड़ोसी देश के खिलाफ क्रूर युद्ध से ध्यान हटाने के इरादे से यूक्रेन में जैविक हथियारों के बारे में दुष्प्रचार और साजिश के सिद्धांतों को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का उपयोग करने का आरोप लगाया है। अमेरिकी उप राजदूत रिचर्ड मिल्स ने एक कार्यक्रम में कथित अमेरिकी भागीदारी के रूसी दावों को ‘‘स्पष्ट रूप से गलत और हास्यास्पद’’ बताया।

संयुक्त राष्ट्र के उप निरस्त्रीकरण प्रमुख थॉमस मार्कराम ने परिषद में दोहराया कि उनके अधिकारी ने 11 मार्च और 18 मार्च को परिषद की बैठकों में इसी तरह के रूसी आरोपों पर कहा था: संयुक्त राष्ट्र यूक्रेन में किसी भी जैविक हथियार कार्यक्रम से अवगत नहीं है। रूस के संयुक्त राष्ट्र में दूत वसीली नेबेंजिया ने उद्घाटन के समय कहा कि उन्होंने तीसरी परिषद की बैठक बुलाई क्योंकि उनकी सरकार को ‘‘बहुत चिंताजनक दस्तावेजी साक्ष्य’’ प्राप्त हुए हैं कि अमेरिकी रक्षा विभाग सीधे ‘‘खतरनाक जैविक परियोजनाओं को अंजाम देने में शामिल है जो यूक्रेन में एक गुप्त जैविक सैन्य कार्यक्रम की तरह दिखते हैं।’’ — वाशिंगटन— अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने शुक्रवार को रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोयगु के साथ बात की। पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने बताया कि ऑस्टिन ने ‘‘तत्काल संघर्षविराम की अपील की और संचार के महत्व को कायम रखने पर जोर दिया।’’ — बर्लिन — रूस के सरकारी स्वामित्व वाले निर्यातक गजप्रोम ने रूस द्वारा यूरोपीय ऊर्जा कंपनियों पर लगाए गए नए प्रतिबंधों का हवाला देते हुए शुक्रवार को कहा कि वह पोलैंड में एक पाइपलाइन के माध्यम से यूरोप को आपूर्ति नहीं भेजेगा जिससे प्राकृतिक गैस की कीमत में वृद्धि हुई। इस कदम से यूरोप में बड़ी मात्रा में प्राकृतिक गैस की आपूर्ति तुरंत बाधित नहीं हुई है, लेकिन इससे यह आशंका बढ़ गई है कि यूक्रेन में युद्ध से प्राकृतिक गैस की आपूर्ति पर व्यापक असर पडे़गा। — वियना – जर्मनी के चांसलर ओलाफ शॉल्त्स ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन पर बात की।

दोनों नेताओं ने मार्च के अंत के बाद पहली बार बात की है। जर्मन सरकार के प्रवक्ता स्टीफन हेबेस्ट्रेइट के अनुसार, शुक्रवार को 75 मिनट की बातचीत ‘‘यूक्रेन में जारी युद्ध और इसे समाप्त करने के प्रयासों पर केंद्रित थी।’’ — इस्तांबुल, तुर्की – तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने शुक्रवार को कहा कि उनका देश फिनलैंड और स्वीडन के नाटो में शामिल होने के ‘‘पक्ष में नहीं’’ है, जो यह दर्शाता है कि तुर्की पश्चिमी सैन्य गठबंधन में अपनी सदस्यता का उपयोग दोनों देशों को स्वीकार करने के कदमों के विरोध में वीटो के तौर पर कर सकता है। — लंदन – ब्रिटेन ने यूक्रेन पर हमले को लेकर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की पूर्व पत्नी और उनकी कथित प्रेमिका को अपनी प्रतिबंध सूची में शामिल किया है। इस सूची में पुतिन की पूर्व पत्नी ल्यूडमिला, पूर्व ओलंपिक जिमनास्ट अलीना काबेवा और कई व्यवसायी जो रूसी राष्ट्रपति के चचेरे भाई हैं, को शामिल किया गया है। काबेवा पर पुतिन के साथ घनिष्ठ व्यक्तिगत संबंध रखने का आरोप लगाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 + eight =