केदार बाबा के दर्शन: कपाट खुलने के मौके पर 10 हजार से अधिक भक्त रहे मौजूद

रुद्रप्रयाग: 11वां ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ के कपाट पूरे विधि-विधान व पौराणिक परंपराओं के अनुसार आगामी छह महीनों के लिए खोल दिए गए हैं। अब भोले के भक्त बाबा के दर्शन कर सकेंगे।

आने वाले छह महीनों तक भगवान केदार की नित्य पूजाएं यहीं पर संपन्न होंगी। कपाट खुलने के मौके पर 10 हजार से अधिक भक्त मौजूद रहे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम से लोक कल्याण के लिए पहली पूजा और रूद्राभिषेक किया गया।
वहीं, यात्रा के पहले ही दिन ही ज्योर्तिलिंग के दर्शनों को श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ने से सरकार की यात्रा व्यवस्थाएं नाकाफी साबित हुई
आज शुक्रवार को विश्व प्रसिद्ध केदारनाथ धाम के वैदिक मंत्रोच्चार के साथ कपाट खोले गए। दर्शनार्थ खोल दिए गए। सुबह साढ़े चार बजे से भगवान की पूजाएं शुरू हो गई थी। वेदपाठी व मुख्य पुजारी टी गंगाधर लिंग ने पूजाएं संपन्न कराई।

केदारनाथ धाम में वैदिक मंत्रोच्चारण एवं विधि विधान से खुलते बाबा केदार के कपाट। सुबह पांच बजे से मंदिर के गर्भगृह के द्वार का पूजन शुरू हुआ, केदारनाथ मंदिर के रावल भीमाशंकर ङ्क्षलग ने कपाट खुलने की परंपराओं का निर्वहन करते हुए ठीक प्रात: 6 बजकर 25 मिनट पर मंदिर के मुख्य द्वार के कपाट खोले।
आज शुक्रवार को केदारनाथ धाम में कपाटोद्घाटन के अवसर पर उमड़े भक्तों का सैलाब। इस दौरान करीब 10 हजार से ज्‍यादा भक्‍त कपाट खुलने के मौके पर मौजूद रहे।
केदापुरी में वैदिक मंत्रो एवं पौराणिक विधि विधान से बाबा केदार के कपाट आम श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए है। इस दौरान भक्तों के जयकारों से क्षेत्र का पूरा वातावरण भक्तिमय हो उठा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fifteen + twelve =