Tuesday , June 21 2022

आइए जानें 4 ऐसी नेचुरल चीज़ों के बारे में जो बालों को रखे ऑयल फ्री

नई दिल्ली: गर्मी के मौसम में न सिर्फ सेहत और त्वचा प्रभावित होती है, बल्कि बालों की सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। लगातार आते पसीने और तेज़ धूप के कारण स्कैल्प से जुड़ी समस्याएं होना आम बात है। तेज़ धूप बालों के ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का कारण बन सकती है, जिससे बाल रूखे और कड़े हो जाते हैं। कई बार यह ऑयली भी दिखने लगते हैं। इसलिए इस मौसम में बालों का ज़्यादा ध्यान रखने की ज़रूरत होती है।
बाज़ार में आपको ऐसे कई प्रोडक्ट्स मिल जाएंगे, जो आपकी बालों की समस्या को दूर कर सकते हैं। लेकिन इनका लंबे समय तक इस्तेमाल नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में प्रकृतिक चीज़ों का उपयोग ज़्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है, क्योंकि इसके कोई साइड-इफेक्ट्स नहीं होते। तो आइए जानें, ऐसी 5 चीज़ों के बारे में जो आपके बालों की समस्याएं दूर कर उन्हें लंबे समय तक हेल्दी रखते हैं।

दही
दही बालों को नरिश करने के साथ उन्हें शाइन भी देता है। इसमें मौजूद पोषक तत्वा आपके बालों को नेचुरल तरीके से हेल्दी रखेंगे। आप चाहे तो दही में मेथी, एलोवेरा या ग्लीसिरीन मिलाकर लगा सकते हैं।

एलोवेरा

एलोवेरा जेल के फायदों से कोई भी अंजन नहीं है। यह न सिर्फ त्वचा बल्कि बालों के लिए भी बेहद फायदेमंद साबित होता है। यह एक तरह का नेचुरल कंडिशनर होता है। गर्मियों में पसीना और ऑयली स्कैल्प रोम छिद्रों को बंद कर हेयर फॉल का कारण बन सकता है। ऐसे में एलोवेरा का उपयोग करना अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। यह पोर्स को खोलने के साथ स्कैल्प को गहराई से हाइड्रेट करने का काम करता है। सिर्फ इतना ही नहीं कि स्कैल्प की जलन को शांत करने का काम भी करता है।
शहद

शहद एक ऐसी प्रकृतिक चीज़ है, जो आपके स्कैल्प को ऑयली किए बिना हाइड्रेट करता है। गर्मी के मौसम में बालों में शहद लगाने से स्कैल्प की खोई नमी और पोषक तत्वों में आई कमी पूरी हो सकती है। यह बालों को मुलायम और शाइनी बनाता है।

नीम

नीम ढेरों आयुर्वेदिक गुणों से भरा होता है। सेहत, त्वचा और बालों के लिए इसका इस्तेमाल सदियों से होता आ रहा है। खासतौर पर गर्मी में बालों को डिटॉक्स करने के लिए बेस्ट है। यह न सिर्फ स्कैल्प को स्वस्थ बनाता है बल्कि रूसी जैसे इंफेक्शन को दूर करने का काम भी कर सकता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

13 − 5 =