Tuesday , June 21 2022

अगर आप 6 घंटे से भी कम सोते हैं तो हो जाएं सावधान

नई दिल्ली:-  पर्याप्त नींद न लेने से एक व्यक्ति की यौन गतिविधि की इच्छा कम हो सकती है, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमज़ोर हो सकती है, सोचने में समस्या हो सकती है और वजन भी बढ़ सकता है। जब आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो आप में कुछ तरह के कैंसर, डायबिटीज़ और यहां तक ​​कि कार दुर्घटनाओं का जोखिम भी बढ़ सकता है।

हर व्यक्ति को कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद ज़रूर लेनी चाहिए। अगर आपकी नींद 6 घंटे से कम है, तो सेहत से जुड़ी ये 9 तरह की समस्याएं आपको घेर सकती हैं।
1. आप बीमारी पड़ सकते हैं

नींद पूरी न होने का असर आपके शरीर की बीमारी के खिलाफ लड़ाई पर पड़ता है। जिसकी वजह से आप आसानी से बीमार पड़ जाते हैं। शोधकर्ताओं ने रिसर्च में पाया कि नींद और इम्यून सिस्टम के बीच गहरा रिश्ता है।

2. आपके दिल को पहुंचता है नुकसान

अगर आप रात में 5 घंटे से कम सोते हैं या 9 घंटे से ज़्यादा सोते हैं, तो इसका बुरा असर आपकी दिल की सेहत पर पड़ सकता है।

3. आप में कैंसर का ख़तरा बढ़ जाता है

कम नींद स्तन कैंसर, कोलोरेक्टल कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर की उच्च दर से जुड़ी है। जो लोग रातभर की शिफ्ट में काम करते हैं, उनमें इसका जोखिम बढ़ा हुआ होता है।

4. आपके सोचने की शक्ति पर असर पड़ता है

यहां तक ​​कि एक रात की नींद भी पूरी न होने से सोच संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। एक्सपेरिमेंटल ब्रेन रिसर्च द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन में, 18 पुरुषों के एक समूह को पूरा करने के लिए एक कार्य दिया गया था। पहला काम पूरी रात की नींद लेने के बाद पूरा कर लिया गया। अगला काम रात को सोने के बाद पूरा किया गया
5. आप चीज़ों को भूलने लगते हैं

न सिर्फ नींद न पूरी होने से और चीज़ों को भूलने लगते हैं, बल्कि इस पर बड़ी संख्या में हुई रिसर्च भी बताती है कि नींद पूरी न होना का असर सीखने और याददाश्त पर भी पड़ता है।

6. आपका वज़न बढ़ सकता है

नींद पूरी न होने के कारण आपका वज़न भी बढ़ सकता है। एक अध्ययन ने 20 वर्ष से अधिक आयु के 21,469 वयस्कों में नींद और वजन के बीच संबंधों की जांच की। तीन साल के अध्ययन के दौरान जो लोग हर रात 5 घंटे से कम सोते थे, उनका वजन बढ़ने और अंततः मोटे होने की संभावना अधिक थी।

7. डायबिटीज़ का जोखिम बढ़ जाता है

मोटापे के अलावा जिन लोगों की नींद पूरी नहीं होती, उनमें भी डायबिटीज़ होने का जोखिम बढ़ जाता है। शोधकर्ताओं ने नींद और मधुमेह पर केंद्रित 10 अलग-अलग अध्ययनों की जांच की। उनके निष्कर्षों से पता चला कि 7 से 8 घंटे का आराम अगर आपके शरीर को मिलता है, तो इससे डायबिटीज़ का ख़तरा कम हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × two =