CAA-JNU हिंसा: मुंबई से यशवंत सिन्हा की गांधी शांति यात्रा शुरू

पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने नागरिकता संशोधन कानून और जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय (जेएनयू) हिंसा के विरोध में मुंबई में गांधी शांति यात्रा की शुरुआत की। इस बहुराज्यीय यात्रा के जरिए यशवंत सिन्हा नागरिकता संशोधन कानून को वापस लेने और जेएनयू में हुई हिंसा की सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा न्यायधीश द्वारा न्यायिक जांच कराने की मांग के लिए जनसमर्थन जुटाएंगे।

मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया से शुरू हुई इस यात्रा में एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चह्वाण शामिल हुए। इस यात्रा में किसान संगठनों समेत विभिन्न संगठन हिस्सा लेंगे। यह यात्रा महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा से होकर 30 जनवरी को दिल्ली के राजघाट पर समाप्त होगी। इस दौरान तीन हजार किलोमीटर का सफर तय किया जाएगा।

यशवंत सिन्हा के नेतृत्व वाले गैर-राजनीतिक संगठन राष्ट्र मंच ने मुंबई से दिल्ली तक गांधी शांति यात्रा आयोजित कर रही है। यशवंत सिन्हा ने बुधवार शाम को बताया था कि गांधी शांति यात्रा के दौरान सरकार से यह मांग भी की जाएगी कि वह संसद में घोषणा करे कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) नहीं कराई जाएगी।