अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का निधन, घाटी में इंटरनेट सेवा बंद

Srinagar. जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का बुधवार रात निधन हो गया। वहीं गुरुवार सुबह 5 बजे उन्हें सुपुर्द ए खाक कर दिया गया। गिलानी के निधन के बाद हालातों पर सुरक्षाबलों की नजर है। जिसे देखते हुए कश्मीर घाटी में कुछ पाबंदियां लगाई गई हैं। जिसके तहत घाटी में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। ताकी घाटी में किसी भी प्रकार की अफवाह न फैले।

गिलानी के निधन पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिए शोक व्यक्त किया है। वहीं जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी ट्वीट कर कहा है कि वह गिलानी के निधन की खबर से दुखी हैं। उन्होंने कहा, ‘हम भले ही ज्यादातर चीजों पर सहमत नहीं थे, लेकिन मैं उनकी दृढ़ता और उनके भरोसे पर अडिग रहने के लिए उनका सम्मान करती हूं।’ पीपुल्स कांफ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन ने भी गिलानी के निधन पर शोक व्यक्त किया।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में तीन दशकों से अधिक समय तक अलगाववादी मुहिम का नेतृत्व करने वाले सैयद अली शाह गिलानी 92 वर्ष के थे। उनके परिवार में उनके दो बेटे और छह बेटियां हैं। उन्होंने 1968 में अपनी पहली पत्नी के निधन के बाद दोबारा शादी की थी। गिलानी पिछले करीब 20 साल से गुर्दे संबंधी बीमारी से पीड़ित थे। उनको कुछ अन्य दिक्कतें भी थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *