चिन्मयानंद केस में बयान से पलटी छात्रा, 15 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई

चिन्मयानंद केस में बयान से पलटी छात्रा, 15 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई

लखनऊ : पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर शाहजहांपुर (Shahjahanpur) की एक छात्रा ने योन शोषण के गंभीर आरोप लगाए थे. इस मामले में स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली लॉ की छात्रा अदालत में अपने आरोपों से ही मुकर गई.

मंगलवार को 23 वर्षीय छात्रा लखनऊ की विशेष एमपी-एमएलए अदालत (MP-MLA Court) में अपने पहले के सभी आरोपों से पलट गई. बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर लखनऊ के विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हो रही थी. अब इस केस की अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को होगी. जानकारी के मुताबिक, रेप के आरोप में फंसे स्वामी चिन्मयानंद केस की सुनवाई एमपी एमएलए कोर्ट में स्पेशल जज पवन कुमार राय के सामने हुई. इस दौरान एलएलएम की छात्रा ने इस बात से स्पष्ट रूप से इनकार किया कि उसने पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ कोई आरोप लगाया था.

लॉ की छात्रा के इस बयान से हैरान अभियोजन पक्ष ने छात्रा के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है और सीआरपीसी की धारा 340 के तहत झूठा बयान देने के लिए कार्रवाई की मांग की है. इस पर जज पीके राय ने निर्देश दिया कि अभियोजन पक्ष के कार्रवाई के आवेदन को स्वीकार किया जाए और इस आवेदन की कॉपी पीड़िता और आरोपी को भी सौंपी जाए. मामले की अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को होगी.

बता दें कि छात्रा ने दिल्ली के लोधी कॉलोनी पुलिस स्टेशन में 5 सितंबर 2019 को चिन्मयानंद के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी. इसी साल फरवरी में इलाहाबाद हाईकोर्ट से स्वामी चिन्मयानंद को जमानत मिली थी. इस मामले में आरोप लगाने वाली युवती पर भी चिन्मयानंद को ब्लैकमेल कर रंगदारी मांगने के आरोप हैं. इसी मामले में स्वामी चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह ने एक अज्ञात मोबाइल नंबर से 5 करोड़ रुपये रंगदारी मांगने का मामला दर्ज कराया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *